किंगफिशर पर्यटक स्थल में स्थानीय निकाय में सीएम अनाउंसमैंट, सडक़ निर्माण और ठोस कुड़ा प्रबन्धन परियोजनाओं की हुई समीक्षा
  हरियाणा विधानसभा की अर्बन लोकल बॉडी एवं पंचायती राज इंस्टीच्यूट कमेटी ने आज अम्बाला शहर का दौरा किया। किंगफिशर पर्यटक स्थल अम्बाला शहर में स्थानीय निकाय विभाग से सम्बन्धित मुख्यमंत्री की घोषणाओं के क्रियान्वयन, सडक़ निर्माण की तकनीक और ठोस कुड़ा प्रबन्धन के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की गई। अम्बाला शहर के विधायक असीम गोयल की अध्यक्षता वाली इस समिति में विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा, महीपाल ढांडा, जगबीर सिंह मलिक, प्रो0 रविन्द्र बलियाला और नरेन्द्र कौशिक शामिल थे। इस मौके पर स्थानीय निकाय विभाग हरियाणा के निदेशक नितिन यादव, अतिरिक्त निदेशक श्रीमती मीनाक्षी राज, निगम आयुक्त सत्येन्द्र दुहन, संयुक्त आयुक्त गगनदीप सिंह सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। 

समीक्षा के दौरान विधायक असीम गोयल ने बताया कि पूरे हरियाणा में सबसे पहले नगर निगम अम्बाला द्वारा दो नवम्बर 2015 को डोर टू डोर कुड़ा कलैक्शन की शुरूआत की थी। इसके अलावा हर घर से गीला व सूखा कुड़ा एकत्रित करने तथा छंटाई किए गए कुड़े के डम्पिंग ग्राउंड तैयार करने की पहल भी ओए अम्बाला परियोजना के तहत अम्बाला नगर निगम से ही की गई है। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत चलाई जा रही इन गतिविधियों से गंदगी के स्तर को काफी हद तक कम करने में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था में पेश आने वाली दिक्कतों और कमियों को दूर करके 26 जनवरी तक इसे पूरी तरह सफल बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस मामले में विधायक प्रो0 रविन्द्र बालियाला, महीपाल ढांडा और जगबीर मलिक ने भी अपने सुझाव दिए। इन विधायकों ने कहा कि व्यवस्था को सुचारू करने के साथ-साथ निगम अधिकारियों व कर्मियों की जिम्मेदारी तय करके ही इस योजना के शत-प्रतिशत लाभ हासिल किए जा सकते हैं। 


स्थानीय निकाय विभाग के निदेशक नितिन यादव ने बताया कि ये दोनो परियोजनाएं अम्बाला से आरम्भ हुई है और इन परियोजनाओं ने प्रदेश के अन्य जिलों के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने बताया कि स्वच्छ मैप एप के तहत नगर निगम क्षेत्र में सभी घरेलू सम्पतियों को यूनिक आईडी जारी किए गए हैं। सफाई न होने पर कोई भी नागरिक अपने घर के यूनिक नम्बर को स्कैन करके स्वच्छ मैप एप पर डाल सकता है। यह जानकारी नगर निगम के नियंत्रण कक्ष पर लगाई गई स्क्रीन पर दिखाई  पड़ेगी और तुरंत सम्बन्धित क्षेत्र के सफाई कर्मी को सफाई के लिए निर्देश जारी हो जाएंगे। इसके अलावा भी सार्वजनिक स्थल पर गंदगी नजर आने पर उसकी फोटो पर इस एप पर लोड की जा सकती है। उन्होंने बताया कि जल्द ही स्थानीय निकास विभाग द्वारा नाईट स्वीपिंग के लिए सफाई करने की 23 मशीने खरीदी जा रही हैं, जो सभी नगर निगमों को उपलब्ध करवाई जाएंगी।


निगम के आयुक्त सत्येन्द्र दुहन ने बताया कि ओए अम्बाला के तहत 70 प्रतिशत कुड़े को गीले व सूखे कुड़े के रूप में विभाजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत 90 हजार घरों में दो-दो डस्टबीन वितरित किए जाने थे, जिनमें से 72 हजार घरों में यह डस्टबीन उपलब्ध करवाए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि सफाई सही प्रकार से न होने पर सफाई का काम देख रही एजेंसी पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा खुले में कुड़ा फेंकने वाले लोगों पर भी नजर रखी जा रही है और अब तक ऐसे लोगों से 48 हजार रुपए की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक शौचालयों की सफाई सुनिश्चित करने के लिए सुलभ संस्था से अनुबंध किया गया है। उन्होंने बताया कि कपड़ा मार्किट, हुडा सैक्टरों व अम्बाला सदर के बाजारों में रात के समय सफाई करवाने के लिए 70 विशेष सफाई कर्मचारी तैनात किए गए हैं, जिसके काफी सराहनीय परिणाम मिल रहे हैं।


इस मौके पर हरियाणा विधानसभा के अधीक्षक शरणपाल सचदेवा, सहायक प्रवीण कुमार, रिपोर्टर मनीजत कुमार, जोगिन्द्र सिंह, शेखर, संजय गर्ग, भाजपा नेता मनदीप राणा, रितेश गोयल, नरेन्द्र भलोटिया, सौरभ गुप्ता सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *