हरियाणा के शिक्षा एवं पयर्टन मंत्री  रामबिलास शर्मा ने पुलिस लाईन मैदान अंबाला शहर में आयोजित 63वीं राष्ट्रीय विद्यालय हॉकी क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुभारंभ किया और हरियाणा सरकार की ओर इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे सभी खिलाडिय़ो का स्वागत करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी। यह प्रतियोगिता आयु वर्ग अंडर 17 लडके/लडकियां की आयोजित की जा रही है जोकि 2 दिसंबर तक चलेगी। इस अवसर पर देश के विभिन्न राज्यों से आई टीमें के खिलाडिय़ों को संबोधित करते शिक्षा मंत्री ने कहा कि खेलों को खेल की भावना के साथ खेलें। उन्होनें कहा कि जीवन खेलने का नाम है और खेलों से आगे बढऩे की भावना पैदा होती है। उन्होंने यह भी कहा कि जब भी हताश और निराश हो तो गीता के तीसरे अध्याय का अध्ययन करें। 

उन्होंने कहा कि गीता भारत की गीत, प्रीत, ज्ञान, शंका और समाधान है। इसीलिए गीता के महत्व को देखते हुए इसे पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि इस क्रीड़ा प्रतियोगिता में भाग ले रही 31 टीमों के 1100 खिलाडिय़ों को अंतराष्ट्रीय गीता महोत्सव के मध्यनजर सभी खिलाडिय़ों को एक-एक हॉकी स्टीक, एक-एक ट्रैक सूट, एक-एक किट बैग दिया जाएगा। 

    उन्होंने कहा कि सभी लोग सुबह और सांय के समय गीता का अध्ययन करें। इसके साथ ही उन्होंने कार्यक्रम में सांस्कृ तिक कार्यक्रम व स्वागत गीत आदि प्रस्तुत करने वाले 4 स्कूलों के बच्चों को 1 लाख रूपए की राशि पुरस्कार के रूप में देने की घोषणा भी की। कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि विधायक असीम गोयल के अनुरोध पर उन्होंने गांव नन्यौला के स्कूल ग्राउड तथा पुलिस लाईन ग्राउड में एस्टौट्रफ भी मंजूर किए।    शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा सघर्ष की धरती है और अंबाला का हरियाणा में विशेष महत्व रहा है। 1857 की क्रांति का प्रारंभ भी यही से हुआ था।

उन्होंने कहा कि 14 नवंबर 2016 को उन्हे ब्रिटिश पार्यलयामेन्ट में बोलने का मौका मिला और वहां पर उन्होंने आजादी के आन्दोलन के दौरान जलियांवाला बाग में हुए नरसंहार व अन्य घटनाओं का जिक्र भी किया। उन्होनें कहा कि ब्रिटिश पार्यलयामैन्ट के 5 मैम्बरों ने यह प्रस्ताव रखा कि वे उस नरसंहार को बुरा मानते है और इस प्रस्ताव पर वहां के 27 मैम्बरों ने हस्ताक्षर कर दिए है। जो कि भारत की एक वैचारिक जीत है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विश्व पटल पर भारत की छवि सशक्त हुई है और जो सर्जिकल स्ट्राईक हमारे सैनिकों ने करके पाकिस्तान को सबक सिखाया है। उससे देशवासियों में यह संदेश गया है कि वर्तमान सरकार देश की सीमाओं की रक्षा एवं सुरक्षा के लिए कोई भी कदम उठाने में पिछे नहीं हटेगी।
   शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम में मौजूद खिलाडिय़ों से आह्ववाहन किया कि वे स्वामी विवेकानन्द के जीवन से प्ररेणा लेकर आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानन्द ने भारतीयता का ड़न्का बजाकर विश्व को एक संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि अध्यापक एवं अधियापिकाएं जो बच्चों को शिक्षा देने का कार्य कर रहे है कोई छोटा कार्य नहीं बल्कि वह व्यक्ति का निर्माण करते है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा की आबादी मात्र 2 करोड़ 62 लाख है लेकिन फिर भी इस प्रदेश के लड़कियों एवं लडक़ों ने अपने खेल एवं अन्य गतिविधियों के दम पर हरियाणा का नाम विश्व में रोशन किया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की बेटियां साक्षी मलिक, गीता, बबीता ने खेल के क्षेत्र में नाम रोशन किया है वहीं पर मानुषी छिल्लर ने सौंदर्य प्रतियोंगिता में प्रदेश का नाम चमकाया है। उन्होनें जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि वे सभी खिलाडिय़ों व उनके साथ आए शिक्षकों के खाने-पीने एवं ठहरने की व्यवस्था में कोई कमी न रहने दे और बढिय़ा व्यवस्था की जाए। इससे पूर्व उन्होनें ध्वजारोहण कर खेलों का शुभारम्भ किया। 
इस अवसर पर विधायक असीम गोयल ने मुख्यअतिथि शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा व देश के विभिन्न प्रदेशों से आए खिलाडिय़ो का स्वागत करते हुए कहा कि यह अंबाला के लिए गर्व की बात है कि राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन यहां पर किया जा रहा है। उन्होने कहा कि भगवान वामन की धरा पर आज लघु भारत के दर्शन हो रहे है। उन्होंने सभी खिलाडिय़ों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि खेल से ही टीम भावना पैदा होती है। उन्होंने मेरा आसमान संस्था द्वारा किए जा रहे सामाजिक कार्यो व सरकारी स्कूल में शुरू की गई स्मार्ट वर्चुअल क्लास रूम के बारे में भी जानकारी दी तथा कहां की मेरा आसमान संस्था द्वारा इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे सभी खिलाडिय़ों के लिए एक डिनर की व्यवस्था की जाएगी जिससे वें अम्बाला के जायके का स्वाद चख सके। 
उन्होनें शिक्षा मंत्री से नन्यौला स्कूल में व पुलिस लाईन मैदान में हॉकी एस्टोट्रफ लगवाने का अनुरोध किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्ग दर्शन में तथा शिक्षा मंत्री  रामबिलास शर्मा के नेतृत्व में टीचर ट्रांसफर पॉलिसी का अनुशरण आज दूसरे प्रदेश भी कर रहे है। उन्होंने कहा कि 20 किलोमीटर के दायरे में एक क न्या कॉलेज खोलना भी एक ऐतिहासिक कदम है। 
इससे पूर्व कार्यक्रम में जिला शिक्षा अधिकारी उमा शर्मा ने मुख्यअतिथि शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा व विशिष्ठ अतिथि विधायक असीम गोयल तथा प्रतियोगिता में भाग ले रहे सभी खिलाडिय़ों का स्वागत करते हुए प्रतियोगिता के लिए किए गए प्रबन्धों, खिलाडिय़ो की सुरक्षा, स्वास्थ्य, खाने एवं ठहरने की गई व्यवस्था के बारे में जानकारी दी और कहा कि सभी प्रबन्ध बेहतर ढंग से किए गए है। कार्यक्रम में ओलम्पियन संजीव को भी सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता में भाग ले रही सभी टीमों ने मार्च पास्ट किया और अंबाला के विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने हरियाणवी एवं पंजाबी संस्कृति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। प्रतियोगिता के उद्घाटन स्तर का समापन राष्ट्रीय गान के साथ हुआ। इससे पूर्व सभी खिलाडिय़ों को शपथ भी दिलवाई गई।
इस अवसर पर एसडीएम सुभाष चन्द्र सिहाग, स्कूल गेम फेडरेशन ऑफ इंडिया के ऑबजरवर के एस मूर्थी, संजय गौतम, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता डॉ. संजय शर्मा, जिला प्रधान जगमोहन लाल कुमार, जिला सचिव रितेश गोयल, मण्डल प्रधान मनदीप राणा, अनुभव अग्रवाल, शैन्की, पार्षद राजेश गोयल, भारत भूषण अग्रवाल, मीडिया प्रभारी राज सिंह, युवा एवं खेल अधिकारी कर्मचन्द, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रविन्द्र कु मार, सहायक खेल शिक्षा अधिकारी राजेन्द्र सिंह, खण्ड शिक्षा अधिकारी सुधीर कालड़ा, सुशीला ढिल्लों, रजनीश शर्मा, सतपाल कौशिक, प्रिंसीपल कुलभूषण सैनी, पीटीआई जसविन्द्र सहित काफी संख्या में शिक्षा विभाग के शिक्षक, डिपीआई, पीटीआई व कोच मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *