अंबाला। स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री अनिल विज ने कहा कि बच्चों को राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की चुनौती का सामना करने के लिए प्रतियोगी शिक्षा देने के साथ-साथ अच्छे संस्कार देना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण व्यत्तिव विकास के लिए शिक्षा, अच्छे संस्कार, खेल व सांस्कृ तिक गतिविधियों में प्रतिभागिता भी जरूरी है।

   विज आज सेवा समिति लिटिल एंजल कॉन्वेंट स्कूल मच्छौंड़ा के वार्षिक उत्सव एवं पारितोषिक वितरण समारोह में उपस्थित विद्यार्थियों और अभिभावकों को सम्बोधित कर रहे थे। जश्रें बचपन नामक इस कार्यक्रम में उन्होंने शिक्षा, खेल एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वाले 100 से अधिक विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया। उन्होंने बच्चों को बेहतर शिक्षा देने के साथ-साथ पंडित मदन मोहन मालवीय की विचारधारा के साथ बच्चों को जोडऩे के सेवा समिति संस्था के प्रयासों की सराहना की और बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए गए गणेश वन्दना, योगाभ्यास, लावणी नृत्य, मराठा नृत्य व अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने विद्यालय में सुविधाओं के विस्तार के लिए स्वैच्छिक कोष से 10 लाख रूपए का अनुदान देने की घोषणा की। 

सांस्कृतिक कार्यक्रमों में ऐतिहासिक तथ्यों और जनभावना का ध्यान रखना जरूरी

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बच्चों को स्कूल और घर के जिस तरह के वातावरण में शिक्षा दी जाएगी उनकी विचारधारा उसी के अनुरूप विकसित होती है और बच्चें जीवन में उसी तरह का रास्ता अपनाते है। उन्होंने कहा कि कुछ सांस्कृतिक कार्यक्रमों, नाटक और फिल्मों में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करके समुदाय विशेष की भावनाओं को आहत करने का प्रयास किया जाता है जो न्याय संगत नहीं है। उन्होंने कहा कि बच्चों को भारतीय इतिहास के महापुरूषों और योद्धाओं के जीवन पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों से जोडऩा जरूरी है ताकि वे खेल-खेल में महान आदर्शों को ग्रहण कर सके। 

स्वास्थ्य मंत्री ने 25 लाख की लागत से बनने वाली गौरी शंकर मंन्दिर धर्मशाला का किया शिलान्यास

इससे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने डिसेंट कॉलोनी अम्बाला छावनी में गौरी शंकर मंन्दिर धर्मशाला का शिलान्यास किया। स्वास्थ्य मंत्री ने इस धर्मशाला के निर्माण के लिए अपने स्वैच्छिक कोष से 25 लाख रूपए का अनुदान उपलब्ध करवाया था। यह कार्य आरम्भ करने के लिए पार्षद सुरेन्द्र बिन्द्रा ने क्षेत्र के लोगों की ओर से स्वास्थ्य मंत्री का आभार व्यक्त किया और क्षेत्र की शेष मांगे भी रखी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि विकास के क्षेत्र में अम्बाला के लिए यह स्वर्णिम काल है और आगामी दो वर्षो में गांव व शहर की कोई भी सामुहिक समस्या शेष नहीं रहने दी जाएगी। उन्होने कहा कि विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं है और पूरे क्षेत्र का चहुमुखी विकास के साथ-साथ शहर को फब्वारों, सजावटी पौधों से सुन्दर भी बनाया जा रहा है। उन्होंने इस मौके पर पिछले तीन वर्षो में अम्बाला छावनी विधानसभा क्षेत्र में सामान्य विकास के साथ-साथ शिक्षा, स्वास्थ्य, जल आपूर्ति, विद्युत आपूर्ति, खेल व अन्य क्षेत्रों में किए गए अभूतपूर्व कार्यो का विस्तार पूर्वक जिक्र  किया।
इस अवसर पर  पार्षद सुरेन्द्र बिन्द्रा, सतपाल ढल्ल, अनुप चोपड़ा, रवि चौधरी, सेवा समिति लिटिल ऐंजल कॉन्वेंट स्कूल के अध्यक्ष मोहिन्द्र पाल गुप्ता, उपाध्यक्ष दीपक शर्मा, सचिव आलोक गुप्ता, प्रबन्धक सुरेश चन्द्र, प्रिंसिपल ममला शर्मा, बीईओ सुधीर कालड़ा, रिंकू मछौड़ा सहित भाजपा के अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *