संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित इस फिल्म का लंबे समय से देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

   फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध-प्रदर्शन अब खूनी रूप लेता नजर आ रहा है। राजस्थान के जयपुर के पास स्थित नाहरगढ़ किले की प्राचीर पर एक शख्स की लाश लटकी हुई मिली है। शव के पास से स्यूसाइड नोट भी बरामद हुआ है। इसमें लिखा है कि यह शख्स स्क्रीनिंग के विरोध में पद्मावती का पुतला जलाए जाने से नाराज था। 

  नोट को मुताबिक उसने कहा कि वह फिल्म पद्मावती को लेकर आत्महत्या कर रहा है। उसके शरीर पर लिखा था-पद्मावती का विरोध। हालांकि घटनास्थल पर एक पत्थर पर लिखा है-हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते। इससे शक मर्डर की ओर भी जाता है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह आत्महत्या है या मर्डर। किले पर लटकती मिली लाश की तलाशी लेने पर पुलिस को मृतक का एक पहचान-पत्र और मोबाइल मिला है।

  पुलिस एसीपी समीर दुबे के मुताबिक प्राथमिकी जांच से मृतक की पहचान चेतन कुमार सैनी है। पहचान-पत्र के पते पर भी एक पुलिस टीम भेजी गई है ताकि मृतक की सही पहचान और उसकी पुष्टि हो सके। पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है। हालांकि पुलिस के मुताबिक प्रथम दृष्टया में मृतक की हत्या का मामला प्रतीत हो रहा है। साथ ही पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के बाद ही कुछ पता चल सकेगा। मृतक की जेब से मिला एक पत्र जिसमें बहुत सी बातें लिखी हैं। पत्थरों पर काले कोयले से लिखा गया है। कोयले के निशान मृतक के हाथों पर भी हैं। उसके गले में हरे रंग की प्लास्टिक की रस्सी भी है।

 पुलिस ने लाश को किले से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में ज्यादा जानकारी का इंतजार है।


 करणी सेना के मुखिया लोकेंद्र सिंह ने घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा है कि उन्हें लगता है कि फ़िल्म ‘पद्मावती’ के रिलीज़ विरोध प्रदर्शन और राजपूत समाज को बदनां करने और देश के भाईचारे में फुट डालने जैसा कृत्य किया गया प्रतीत होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *