उदयपुर। मेवाड़ के पूर्व राजघराने के सदस्य और पद्मिनी के वंशज विश्वराज सिंह ने शनिवार को कहा कि रानी पद्मिनी पर आधारित फिल्म  ‘पद्मावती’  में इतिहास को तोड़ मरोड़ कर प्रस्तुत किया गया है, जो स्वीकार्य नहीं है। 

   उन्होंने आज कहा कि फिल्म की रिलीज से पहले गाने, पोस्टर देखने से पता चलता है कि रानी पद्मावती का जीवन चरित्र गलत ढंग से प्रस्तुत किया गया है। फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली ने ऐसा अपने फायदे के लिए किया है।

  विश्वराज सिंह ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्रियों स्मृति ईरानी, प्रकाश जावडेकर, राज्यवर्धन सिंह राठौड़ तथा राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को पत्र लिखकर सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म पद्मावती को जारी सर्टिफिकेट को रोकने की मांग की है। इधर, जयपुर के पूर्व राजघराने की सदस्य और भाजपा विधायक राजकुमारी दीया कुमारी ने फिल्म  पद्मावती  के रिलीज का विरोध करने के लिए शनिवार को जयपुर में गोविंद देव जी मंदिर से  हस्ताक्षर अभियान  आरम्भ किया। दीया कुमारी ने इस मौके पर कहा कि  हस्ताक्षर अभियान  को सम्भाग स्तर पर भी आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने फिल्म भंसाली से आग्रह किया कि वह फिल्म की रिलीज से पूर्व इतिहासकारों के फोरम के समक्ष उसे प्रदर्शित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *