आंबाला से आये डॉक्टरों ने दी दबिश, डॉ भंडारी के नेत्र्तव में पहुंची टीम।

  बेटी बचाओ को लेकर देशभर में जागरूकता अभियान चलाए जा रहे है और सरकारें भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा लेकर प्रचार प्रसार कर रही है लेकिन आज भी अनेको जगहों से लिंग परीक्षण होने की खबरे सुनने को मिलती है। भूर्ण जाँच को लेकर भले ही कड़े कानून बनाए गए हो लेकिन कुछ डाक्टरो पर इसका कोई फर्क नही पड़ता।


रुड़की शहर भूर्ण जाँच को लेकर आज कल काफी चर्चाओ में है कुछ दिन पूर्व रोहतक की टीम ने रुड़की से एक डॉक्टर को भूर्ण जाँच कराए जाने के आरोप में गिरफ्तार किया था साथ उसके अल्ट्रासाउंड सेंटर को भी सील किया गया था।

   अब एक बार फिर आंबाला के स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रुड़की के नामी डॉक्टर को लिंग प्रशिक्षण में गिरफ्तार किया है साथ ही चार लोगों को और हिरासत में लिया गया है।
  आपको बता दे कि आवास विकास स्थित अरोड़ा नर्सिंग होम में अंबाला के बराड़ा से एनडीपीटी की टीम ने लिंग परीक्षण के आरोप में चिकित्सक को गिरफ्तार किया है। पुलिस उसकी सहयोगी और महिला दलाल को साथ ले गयी। इस दौरान टीम को हरियाणा की एक ओर महिला मिली जो लिंग परीक्षण के लिए नर्सिंग होम में आई थी। 
जानकारी के अनुसार अंबाला के बराडा एनडीपीटी की टीम को सूचना मिली थी कि बराड़ा के दलाल लिंग परीक्षण रुड़की करवाते हैं, तो टीम ने अपने ही विभाग की सहयोगी को अल्ट्रासाउंड के लिए तैयार किया। महिला ने दलाल से संपर्क किया और तीस हजार रुपये में सौदा तय हो गया। 
  दलाल जसवीर की एक सहयोगी महिला उस महिला को लेकर रुड़की की ओर चली। एनडीपीटी ने पहले ही महिला की गाड़ी में जीपीएस लगा रखा था, उसके सहारे टीम उसके पीछे लग गयी। आवास विकास स्थित अरोड़ा नर्सिंग होम में रिसेप्शन पर बैठी महिला हनीराज से संपर्क हुआ और अल्ट्रासाउंड के लिए बात हुई।
  अल्ट्रासाउंड होते ही बराड़ा के नोडल अधिकारी डॉ भंडारी के नेतृत्व में आई करीब 6 सदस्यों से ज्यादा लोगों की टीम ने नर्सिंग होम पर छापा मार दिया और सूचना स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की टीम और प्रशासन को भी दी गयी। इस दौरान उन्हें हरियाणा की एक ओर महिला लिंग परीक्षण करवाते हुए मिली। टीम पूछताछ के लिए उसे भी अपने साथ ले गयी। एनडीपीटी की टीम ने चिकित्सक एन0डी0 अरोड़ा को गिरफ्तार किया। उनके पास से 9 हजार रुपए बरामद हुए। डॉक्टर की सहयोगी हनीराज जो कि रिसेप्शन पर बैठी थी, उसके पास से 12 हजार 500 रुपये मिले और 1 हजार पांच सौ रुपए महिला दलाल के पास से मिले। टीम सभी को अपने साथ ले गयी। बाकी कागजी कार्रवाई कोतवाली गंगनहर में पूरी की गई है।  क्षेत्रीय नोडल अधिकरी अशोक कुमार ने बताया कि नर्सिंग होम में लिंग परीक्षण करवाया जाता था बराड़ा की टीम ने कार्रवाई की है। अभी कार्रवाही जारी है। वहीं मौके पर एएसडीएम प्रेमलाल, तहसीलदार मंजीत गिल ने भी जानकारी ली। अम्बाला से आई टीम ने रुड़की में कागजी कार्यवाही पूरी कर सभी आरोपियों को अपने साथ ले गए।वहीं स्थानीय स्वास्थय महकमे पर इस कार्यवाही से कई सवाल खड़े हो रहे है। बाहर से आकर टीम कार्यवाही करती है लेकिन स्थानीय स्वास्थ्य महकमें को कानो कान खबर भी नही होती वहीं क्षेत्र में चल रहे इस कृत्य को रोकने में स्थानीय महकमा क्यों पीछे रह जाता है। साथ ही बाहरी विभाग की दो बार की कार्यवाही से जिला हरिद्वार का स्वास्थ्य विभाग बैकफुट पर आ गया हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *