मंत्री ने कहा कि गंगा स्नान के बाद उन्हें लौटना चाहिए था, लेकिन वे लोग डेंजर जोन में चले गए। मंत्री ने कहा, “हम हर जगह एनडीआरएफ, एसडीआरएफ को तैनात नहीं कर सकते।”

बिहार में पटना और वैशाली जिले के बीच से गुजर रही गंगा नदी और समस्तीपुर जिले से गुजर रही बागमती नदी में डूबने से 12 लोगों की मौत हो गयी तथा तीन अन्य व्यक्ति लापता बताए जा रहे हैं । पटना जिले के फतुहा थाना प्रभारी नसीम अहमद ने बताया कि हादसा पड़ोसी वैशाली जिले के रौशनपुर पुलिस चौकी इलाके में गंगा नदी के बीच गाद से बने एक टापूनुमा स्थल के पास हुआ। उन्होंने बताया कि नौ लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं जिनमें चार पुरुष और पांच लड़कियां शामिल हैं। इधर, राज्य के आपदा प्रबंधन मंत्री दिनेश चंद्र यादव ने कहा कि इस घटना के लिए सरकार जिम्मेदार नहीं है। मंत्री ने कहा कि गंगा स्नान के बाद उन्हें लौटना चाहिए था, लेकिन वे लोग डेंजर जोन में चले गए। मंत्री ने कहा, “हम हर जगह एनडीआरएफ, एसडीआरएफ को तैनात नहीं कर सकते।”

 अहमद ने बताया कि सभी मृतक फतुहा के दरियापुर इलाके के निवासी थे । उन्होंने बताया कि पटना सिटी के मस्ताना घाट होकर पिकनिक मनाने गंगा नदी में टापूनुमा स्थल पर गए इन लोगों में किसी एक के नदी में नहाने के क्रम में डूबने और फिर उसे बचाने के क्रम में बाकी अन्य लोग भी डूब गए । अहमद ने बताया कि अन्य लापता लोगों की तलाश गोताखोरों की मदद से जारी है । वहीं, पटना के जिलाधिकारी ने कहा कि आठ शव बरामद हुए हैं और कुछ अन्य लापता लोगों की तलाश जारी है। उन्होंने बताया कि सभी मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

दूसरी घटना में, समस्तीपुर जिले में शिवाजी नगर पुलिस चौकी अंतर्गत मधुरापुर धर्मपुर घाट के पास आज सुबह बागमती नदी में एक छोटी नौका के असंतुलित होकर पलट जाने से उसमें सवार एक दर्जन से अधिक लोग नदी की धारा में बहने लगे जिनमें से तीन महिलाओं की डूबने से मौत हो गयी। नदी से बेहोशी की अवस्था में निकाले गए पांच अन्य लोगों को इलाज के लिए शिवाजी नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।
रोसडा अनुमंडल के पुलिस उपाधीक्षक अजीत कुमार ने बताया कि मृतकों में पूनम देवी, रीता कुमारी और नगीना देवी शामिल हैं जिनकी उम्र 20 से 30 वर्ष के बीच है । उन्होंने बताया कि नौका पर सवार बाकी अन्य लोग तैरकर नदी से बाहर निकल आए । अजीत ने बताया कि यह हादसा उस समय हुआ जब ये लोग उक्त नौका पर सवार होकर मवेशियों के लिए चारा लाने के उद्देश्य से बागमती नदी पार कर रहे थे । उन्होंने बताया कि सभी मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए समस्तीपुर सदर अस्पताल भेजा जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *