अंबाला में तीसरी विशाल छात्र पंचायत की अध्यक्षता करने पहुँचे सांसद दीपेन्द्र हुड्डा, ने कहा कि तीन वर्ष के कार्यकाल में ही प्रदेश और देश की जनता के सामने भाजपा का असली चेहरा आ गया है।

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा के नेतृत्व में अंबाला में आयोजित तीसरी छात्र पंचायत में भी युवाओं में रोहतक और हिसार की छात्र पंचायतों जैसा जोश देखने को मिला। अंबाला पहुँचने पर छात्रों ने जगह जगह सांसद दीपेन्द्र हुड्डा का जोरदार स्वागत किया।

 छात्रों के बड़े हुजूम को संबोधित करते हुए सांसद ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल के तीन साल पूरे हो चुके हैं और अब सबको भाजपा का चाल चरित्र और चेहरा अच्छे से समझ आ गया है। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले भाजपा ने युवाओं से बड़े बड़े वादे किये थे कि हर वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार दिया जायेगा और नौकरी न मिल पाने पर 9 हजार रूपए महीने का बेरोजगारी भत्ता दिया जायेगा, विदेशों से काला धन वापस लाकर हर व्यक्ति के खाते में 15-15 लाख रूपए दिये जायेंगे मगर सत्ता में आने के बाद भाजपा अपने इन वादों को भूल गयी, सच्चाई यह है कि पिछले तीन सालों में कुल 7,853 लोगों को ही सरकारी क्षेत्र में रोजगार मिला हैं यानि कि हर साल मात्र 2500 लोगों को नौकरी मिल सकी है जबकि वादा था हर साल 40,000 नौकरियां देने का और यह भी तब जब हर साल लगभग 25,000 कर्मचारी रिटायर हुए हैं। युवाओं समेत समाज का हर वर्ग इस सरकार से पीड़ित है और बेसब्री से चुनाव का इन्तजार कर रहा है। युवाओं ने भाजपा से अपने मोहभंग होने के संकेत हाल ही में हुए दिल्ली, पंजाब और राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्र संघ चुनाव में भाजपा की युवा इकाई को धूल चटा कर दे दिये हैं।   

  सांसद ने कहा प्रदेश भर में विकास के काम ठप्प हैं और चौ. भूपेन्द्र सिंह हुड्डा जी के दस साल के कार्यकाल में हरियाणा भाईचारे की नीव पर जिस रफ़्तार से आगे बढ़ रहा था अब भाजपा ने उसपर ब्रेक लगा कर रोकने का काम किया है। सरकार पर कटाक्ष करते हुए सांसद ने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि अपने ही लोगों को ठगने और गुमराह करने वाली सरकार मिली है।

सांसद ने हाल ही में मुख्यमंत्री जी द्वारा दिए गए बयान कि ‘जो पहले कभी नहीं हुआ वह इन 3 सालों में हुआ है’ पर टिपण्णी करते हुए कहा कि यह सच है, भाजपा सरकार ने प्रदेश के विकास को पटरी से उतारा है, 3 साल में 3 बार हरियाणा जलाने काम किया, 3 बार गोली चली, 3 बार सेना बुलानी पड़ी और 75 लोगों कि जानें गई ऐसा प्रदेश के इतिहास में पहले कभी नहीं हुआ है। इतनी जानें तो जम्मू-कश्मीर में नहीं गयीं है जितनी खट्टर सरकार के कार्यकाल में हरियाणा में गई हैं।

   सांसद ने कहा 1600 करोड़ रुपये बीजेपी सरकार के इवेंट मैनेजमेंट पर खर्चने पर ना मिली तालिया भी यहाँ युवाओ ने तोड़े सारे रिकॉर्ड जोश देखते बन रहा हे । और अंबाला छावनी में ऐतिहासिक सेंट्रल लाइब्रेरी तोड़े जाने पर विरोध जताया और कहा नए संस्थाए खोलने की बजाय पुरानो को भी ख़त्म किया जा रहा हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं  ।      
सफल छात्र पंचायतों और युवाओं के जोश और मांग को देखते हुए उन्होंने कहा की आने वाले समय में सभी ज़िलों में युवा पंचायतों का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य रूप से फूल चंद मुलाना,गीता भुक्कल,कैलाशो सैनी,चित्रा सरवारा,वरुण मुलाना, ब्रह्मपाल राणा, अशोक मेहता, सचिन कुण्डू, इन्तजार हुसैन, विजेंदर गिल,अतुल महाजन, हरीश शासन, गुरजंट बनोदी, शंटी धीमान, जग्गा खेरा,दुष्यंत राणा, मोंटी मल्लोर, कुशलपाल राणा, जसदीप सिंह,चांदवीर हूडा, अनमोल नन्यौला, सौरभ भारद्वाज, प्रतीक चौधरी ब्रदर्सग्रुप, सोमन, जसबीर, गोलू भनोखेड़ी,अक्षय कौशिक,जसबीर गोदर, जयदीप धनखड़, नितिन भाटिया, सुरेश खुर्दबन, बरखा राम पासरा, मेवा सिंह, मनीष चौहान, दीपांशु सूद इत्यादि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *