अवैध संबधों के चलते जलाया
आरएमपी डॉक्टर गिरफतार 

अंबाला। 30 सितंबर को ललाना गांव में दोहरे मिस्ट्री मर्डर मामले में पुलिस ने झोलाछाप डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी ने कई चौंका दने वाले रहस्यों को उजागर किया है। 

आरोपी का मृतक महिला रिंकी से अवैध संबंध था। मूलरूप से कुरुक्षेत्र के डींग गांव का रहने वाला बृजभूषण शर्मा (50) साल से अंबाला के फतेहगढ़ में क्लीनिक चला रहा था।

 उसने पूछताछ में यह स्वीकार किया कि उसी ने 30 सितंबर को ललाना में घर की छत पर सो रही दोनों बहनों रिंकी (25) और सुषमा (19) पर पेट्रोल छिड़कर आग लगाई थी। इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई थी। आरोपी ने मृतका पर आरोप लगाया है कि रेप के केस का डर दिखा ब्लैकमेल करने लगी थी महिला…

दो दिन के पुलिस रिमांड में हत्यारोपी ने ये खुलासे किए। 

आरोपी का रिंकी के मायके व ससुराल दोनों जगह आना-जाना था। संदिग्ध गतिविधियों के कारण उसे ससुराल आने से रोक दिया गया था। ससुराल में मनमुटाव के बाद रिंकी मायके आ गई थी।

 3 अक्टूबर को सदर थाने में दर्ज हत्या के प्रयास का यह मामला बहनों की मौत के बाद हत्या में तबदील हो चुका है। आरोपी का कहना है कि पिछले करीब 22 साल से वह फतेहगढ़-जटवाड़ में बतौर आरएमपी डॉक्टर ग्रामीणों को दवाएं देता है। कई वर्ष पूर्व छावनी की ज्योति से हुई शादी से उसे कोई औलाद नहीं है।

  वर्ष 2016 में रसोली के ऑपरेशन के बाद चले इलाज के दौरान ज्योति की मौत हो गई थी। वहीं किसी हादसे में रिंकी के पति विक्रम की टांग में फ्रेक्चर हुआ था। वह विक्रम की मरहम-पट्टी के लिए घर आता था। उसी दौरान उसके रिंकी से अवैध संबंध बन गए। वह समय-समय पर रिंकी की पैसों से सहायता करता था।
 पहले तो किसी को संबंधों की भनक नहीं लगी लेकिन जब पता चला तो विक्रम ने उसे घर आने से मना कर दिया। इस बात पर ¨रकी और विक्रम के बीच तकरार हुई। ¨रपी गांव ललाना स्थित अपने मायके लौट आई। बावजूद इसके दोनों में फोन पर बातचीत चलती रही। 
– पुलिस से मिली जानकारी अनुसार कि रिंकी की शादी गांव फतेहगढ़ में विक्रम से हुई थी। उनका एक बेटा व दो बेटियां हैं। 6 महीने पहले हादसे में विक्रम की टांग टूट गई थी। इलाज के चलते बृजभूषण का उनके घर आना-जाना हो गया। वह रिंकी पर बुरी नजर रखने लगा।
– विक्रम को आंखों से कम दिखाई देता था और चलने-फिरने में भी लाचार हो गया था। विक्रम की मजबूरी का फायदा उठा उसने रिंकी से फिजिकल रिलेशन बनाए।
– पति की टांग टूटने के बाद रिंकी के घर का गुजारा मुश्किल से हो रहा था। इसलिए बृजभूषण ने उसे मदद के तौर पर कुछ पैसे दे दिए। इसके बाद रिंकी रेप के केस का डर दिखा उसे ब्लैकमेल करने लगी।
– रिंकी की बहन सुषमा को भी इस बात का पता था। बृजभूषण व रिंकी के संबंधों की जानकारी पति को लगी तो उसने रिंकी को 3 माह पहले मायके भेज दिया था। तब से वह ललाना में ही रह रही थी।
– वारदात से एक दिन पहले भी दोनों बहनें गांव दुराना में बृजभूषण से मिली थीं। वहां रिंकी ने उससे पैसे मांगे। इसी ब्लैकमेलिंग से परेशान बृजभूषण ने अगले दिन वारदात को अंजाम दे दिया।
ऐसे दिया खौफनाक वारदात को अंजाम
– 29 सितंबर को डॉक्टर ने बाइक में 300 रुपए का पेट्रोल डलवाया। वह रिंकी से फोन पर बात करते हुए क्लीनिक पर पहुंचा। वहां उसने बाइक से केनी में पेट्रोल डाला और गांव ललाना की तरफ रवाना हो गया।
– वह पकड़ा न जा सके, इसलिए अपना मोबाइल क्लीनिक पर छोड़ गया। गांव पहुंचने पर उसने बाइक एक चौराहे के पास लगा दी और रिंकी के घर तक पैदल पहुंचा।
– वह घर की पिछली तरफ से छत पर आया और चारपाई पर सो रही रिंकी पर पेट्रोल डालकर आग लगाकर फरार हो गया। सुषमा भी उसके साथ सो रही थी। इलाज के दौरान एक हफ्ते बाद रिंकी ने दम तोड़ दिया। 31 अक्टूबर को सुषमा की भी मौत हो गई।
मोबाइल के जरिए हुअा मामले का खुलासा
– बृजभूषण ने अपने नाम से मोबाइल लेकर रिंकी को दे रखा था। पुलिस के टारगेट पर चार नंबर थे।

– जांच हुई तो पता चला कि वह सभी नंबर बृजभूषण के हैं और उस दिन भी रिंकी के मोबाइल से बृजभूषण की बात हुई।

– इसी शक के आधार पर पुलिस ने उससे पूछताछ की तो मामले का खुलासा हो गया। पुलिस ने उसे कोर्ट से दो दिन के रिमांड पर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *