हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य के 50,25,941 मतदाता 338 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। इनमें 19 महिलाएं भी शामिल हैं। 

  प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेंद्र राजपूत ने आज शिमला में एक पत्रकारवार्ता में कहा कि वीवीपैट मशीनों का प्रयोग इस बार के चुनाव की सबसे खास बात होगी क्योंकि इस मशीन के प्रयोग से मतदाताओं की इस बात की आशंका खत्म हो जाएगी कि उनका वोट मनपसंद उम्मीदवार को गया है या नहीं। हिमाचल देश का ऐसा पहला राज्य है जहां पूरे चुनाव में वीवीपैट मशीनों का प्रयोग हो रहा है। 
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि निर्वाचन विभाग चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है और अब तक 2 रिहर्सल पूरी कर ली गई है। उन्होंने कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की आ रही शिकायतों का साथ के साथ निपटारा किया जा रहा है और 141 शिकायतों में से केवल 31 शिकायतों का ही निपटारा होना शेष रह गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव के सभी प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए जहां 37605 कर्मचारी चुनाव ड्यूटी पर लगाए गए हैं वहीं प्रदेश पुलिस के 11 हजार जवान, हिमाचल और उत्तराखंड से छह हजार होमगार्ड तथा पैरा मिलिट्री फोर्स की 65 कंपनियां भी तैनात की जा रही हैं।

  • निष्पक्ष व स्वतंत्र मतदान के लिए बढ़ी धरपकड़

चुनाव प्रभावित करने के लिए इस्तेमाल होने वाली चीजों खासकर शराब, नकदी, और नशीले पदार्थों की धरपकड़ प्रदेश में तेज हो गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक प्रदेश में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने से आज दिन तक 65 हजार लीटर से अधिक शराब के अलावा बड़ी मात्रा में चरस, अफीम, गांजा और 1.12 करोड़ रुपए की नकदी व तीन किलो सोना भी पकड़ा गया है।

  • चुनावी खर्चा न बताने पर नोटिस

रिटर्निंग अधिकारी (शिमला ग्रामीण) भूपेंद्र अत्री ने आज शिमला में कहा कि भाजपा प्रत्याशी प्रमोद शर्मा, कुशाल भारद्वाज तथा एमडी शर्मा द्वारा व्यय पर्यवेक्षक के समक्ष चुनावी व्यय का लेखा जोखा 30 अक्तूबर तक प्रस्तुत नहीं किया गया है। उन्होंने इन उम्मीदवारों से आगामी 3 नवंबर को पर्यवेक्षक के समक्ष शिमला में चुनावी व्यय रजिस्टर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उम्मीदवार स्वयं या एजेंट के माध्यम से चुनावी रजिस्टर और लेखा-जोखा व्यय पर्यवेक्षक को प्रस्तुत कर सकता है। उन्होंने कहा कि आदेशों की अवहेलना करने पर नियम के तहत आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *