हॉस्पिटल में बाल चिकित्सा विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर अनुया चौहान ने कहा, पिछले कुछ सालों में एक दिन में इतने शिशुओं की मृत्यु का ये पहला मामला है।

 अहमदाबाद के एक सरकारी हॉस्पिटल में पिछले 24 घटें में 9 नवजात शिशुओं की मौत हो गई। घटना शनिवार (28 अक्टूबर) की है। अस्पताल के अधिकारियों ने अधिकतर शिशुओं की मौत का कारण कम वजन बताया है। साथ ही कहा कि शिशुओं को प्राइवेट हॉस्पिटल भी रेफर किया गया था। लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। सिविल हॉस्पिटल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर एमएम प्रभाकर ने बताया, जिन बच्चों को निजी हॉस्पिटल में भेजा गया वहां के ज्यादातर डॉक्टर्स दिवाली की छुट्टी पर घर गए हुए थे। जिन शिशुओं की मृत्यु हुई है उनका वजन काफी कम था। कई बच्चों का वजन एक किलोग्राम से भी कम था। मैं भरोसे के साथ कह सकता हूं कि इन शिशुओं की मौत ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई। दूसरी तरफ हेल्थ कमिश्नर डॉक्टर जयंती रवि ने शिशुओं की मृत्यु की पुष्टि करते हुए कहा, हमने मामले में संज्ञान लिया है। शुरुआती जानकारी के अनुसार कुछ शिशुओं की तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। इसमें कुछ शिशुओं की मौत सेप्टिसीमिया की वजह से हुई जबकि एक बच्चे का खून का थक्का रूक गया। शिशुओं की मौत का ये बड़ा मामला है। इस मामले में हम पूरी रिपोर्ट पर नजर बनाए रखेंगे।

वहीं हॉस्पिटल में बाल चिकित्सा विभाग की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर अनुया चौहान ने कहा, पिछले कुछ सालों में एक दिन में इतने शिशुओं की मृत्यु का ये पहला मामला है। हालांकि यहां एक दिन में अधिकतर शिशुओं की मौत का आंकड़ा चार और पांच तक रहा है। जबकि शनिवार रात तक यहां 9 शिशुओं की मृत्यु हो चुकी है। मृतकों में चार लड़के और पांच लड़कियां शामिल हैं। इनमें से पांच शिशुओं का वजन काफी कम था। इनका वजन 700 ग्राम से एक किलोग्राम तक था। जबकि अन्य चार शिशुओं को निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। जिनकी मौत अन्य कारणों से हुई। मेडिकली, इन्हें सामान्य मृत्यु कहा जाता है। पिछली दिवाली हमने कई इमरजेंसी केस देखे लेकिन तब इनते शिशुओं की मृत्यु नहीं हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *