भाजपा पाटीदार समुदाय के लिए किये वायदे से पीछे हटी: ‘पीएएएस’ 

  अहमदाबाद। गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा के लिए, हार्दिक पटेल की अगुवाई वाले पाटीदार अमानत आंदोलन समिति ( पीएएएस) के एक नेता ने यह दावा कर परेशानी खड़ी कर दी है कि उन्हें भाजपा ने निष्ठा बदलने के लिए एक करोड़ रूपये की पेशकश की थी।

बहरहाल, सत्ताधारी दल ने इस दावे को असत्य बताते हुए सिरे से खारिज कर दिया है। उत्तरी गुजरात में ‘पीएएएस’ के संयोजक नरेंद्र पाटिल ने यह दावा कल किया। इसके बाद ‘पीएएएस’ के ही एक अन्य सदस्य निखिल सवानी ने पार्टी पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दे दिया।

कुछ माह पहले ही भाजपा में शामिल हुए सवानी का आरोप है कि पार्टी ने पाटीदार समुदाय की मांगें मानने का अपना वादा पूरा नहीं किया।
नरेंद्र पटेल ने भाजपा की गुजरात इकाई के प्रमुख जीतू वघानी की मौजूदगी में कल रात घोषणा की थी कि वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं। लेकिन कुछ घंटों के बाद 10 बजकर 30 मिनट पर उन्होंने एक संवाददाता सम्मलेन बुलाकर भाजपा पर आरोप लगाया कि उन्हें सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपये की पेशकश की गई थी, लेकिन वह अपने समुदाय के साथ छल नहीं करेंगे।
इस आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने दावा किया कि कांग्रेस के इशारे पर यह ‘ड्रामा’ किया गया।
गुजरात में भाजपा के प्रवक्ता भरत पांड्या ने आज दावा किया, ‘ ये सभी आरोप झूठे हैं। नरेंद्र पटेल द्वारा यह ड्रामा कांग्रेस के इशारे पर किया गया। वह भाजपा में शामिल होने के लिए अपनी इच्छा से आए थे और कुछ हीं घंटों में पलट भी गए। यह साबित होता है कि सब कुछ पूर्व नियोजित था।’ संवाददाता सम्मलेन में नरेंद्र पटेल ने मीडियाकर्मियों को 10 लाख रुपये की नगद राशि दिखाते हुए दावा किया कि यह रकम उन्हें पाटीदार अमानत आंदोलन समिति के पूर्व नेता वरूण पटेल ने ‘एडवांस’ में दी थी। वरूण पटेल शनिवार को भाजपा में शामिल हुए थे।
उन्होंने आरोप लगाया कि पूरे समझौते में वरूण ने मध्यस्थता की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *