Diwali 2017 Puja Vidhi, Shubh Muhurat, Laxmi Pujan: दिवाली के दिन के लिए मान्यता है कि इस दिन माता लक्ष्मी का जन्म हुआ था, इसलिए ही इस दिन माता लक्ष्मी का पूजन किया जाता है।

दिवाली का त्योहार भगवान राम और माता सीता के 14 वर्ष के लौटने पर अयोध्यावासियों ने उनके स्वागत में घी के दीपक जलाकर किया था। इसके साथ ही इस दिन के लिए ये मान्यता है कि इस दिन माता लक्ष्मी का जन्म हुआ था, इसलिए ही इस दिन माता लक्ष्मी का पूजन किया जाता है। इस त्योहार को बुराई की अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। ये पर्व भारत के हर हिस्से में मनाया जाता है चाहे वो उत्तर भारत हो या दक्षिण भारत में। इस दीपों के पर्व को दिपावली भी कहा जाता है। हिंदू पंचाग के अनुसार ये पर्व कार्तिक माह की अमावस्या को मनाया जाता है। दिवाली एक पंचदिवसीय त्योहार है। इसकी शुरुआत धनतेरस के दिन से होती है और भाईदूज तक इस त्योहार को मनाया जाता है। दिवाली भारत का एक ऐसा पर्व है जिसे हर कोई उत्सव के रुप में मनाता है, इसलिए ही इसे महापर्व कहा जाता है। एक और यह जीवन में ज्ञान रुपी प्रकाश को लाने वाला है तो वहीं सुख-समृद्धि की कामना के लिये मनाया जाता है। इस दिन शुभ मुहूर्त में पूजा करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न रहती हैं और अपने भक्तों को आशीर्वाद देती हैं।

इस बार शाम 5 बजकर 43 मिनट से रात 8 बजकर 16 मिनट तक प्रदोषकाल रहेगा। जिसमें लोग सुख-समृद्धि की कामना से लक्ष्मी, गणेश और कुबेर का पूजन कर सकेंगे। दिवाली के दिन मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा शुभ मुहूर्त में ही की जानी चाहिए। इसके साथ ही इस बार पूजा मुहूर्त के कई संयोग बन रहे हैं उसके अनुसार महानिशिता काल मुहूर्त में भी पूजा की जा सकती है। इस काल में शुभ मुहूर्त रात्रि 11 बजकर 40 मिनट से लेकर 12 बजकर 31 मिनट तक रहेगा। दिवाली के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त प्रदोष काल से शुरु होगा। प्रदोष काल सूरज के डूबने के बाद से शुरु होगा। भारत में इसी के चलते अलग-अलग शहरों में पूजा का शुभ मुहूर्त में थोड़ा बदलाव आएगा। जानते हैं कि आपके शहर में दिवाली लक्ष्मी पूजा का क्या शुभ मुहूर्त है।
दिल्ली- 5 बजकर 47 मिनट से 8 बजकर 20 मिनट तक शुभ मुहूर्त रहेगा।

मुंबई- 6 बजकर 13 मिनट से 9 बजकर 25 मिनट तक।

लखनऊ- 5 बजकर 34 मिनट से 8 बजकर 06 मिनट तक।

गुरुग्राम- 5 बजकर 48 मिनट से 8 बजकर 21 मिनट तक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *