लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से कहा है कि दीपावली और छठ पूजा के दौरान यदि कोई अप्रिय घटना हुई तो संबंधित थाने के अधिकारियों की जवाबदेही नियत करते हुए उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए अपराधियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए अभियान चलाया जाए।

उन्होंने कहा कि दीपावली एवं छठ पूजा पर परंपरागत रूप से होने वाले धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रमों को अवश्य संचालित करायें, लेकिन किसी भी विवादित अथवा तनाव उत्पन्न करने वाले नये धार्मिक एवं सामाजिक कार्यक्रमों को संचालित कराने की अनुमति बिल्कुल ना दी जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे प्रकरणों में सम्बन्धित पक्षों के साथ बातचीत कर प्रशासन विवादमुक्त वातावरण सुनिश्चित करे।
उन्होंने कहा कि थानेवार संदिग्ध व्यक्तियों की सूची बनाकर उनकी कार्यशैली पर निरन्तर निगरानी सुनिश्चित की जाये।
योगी ने कहा, ‘‘यदि आगामी दीपावली एवं छठ पूजा में कोई भी अप्रिय घटना हुई तो सम्बन्धित पुलिस अधिकारियों की जिम्मेदारी नियत कर उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।’’ मुख्यमंत्री कल शाम कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक कर जोनल अपर पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षकों को आवश्यक निर्देश दे रहे थे। बाद में जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि पटाखों से होने वाले हादसों आदि से बचाव के लिए लाइसेंसी दुकानदारों के लिए खुले स्थानों पर दुकानें लगाने की व्यवस्था की जाए। वहां दमकल गाड़ियों आदि का भी इंतजाम किया जाए। उन्होंने कहा कि बस्तियों में संचालित पटाखों की दुकानों एवं गोदामों को कतई संचालित न होने दिया जाये।
उन्होंने कहा कि अपराधियों पर अंकुश लगाने हेतु उनके विरुद्ध लम्बित वादों की प्रभावी पैरवी कर दण्डित कराना सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि जेल में बंद अपराधियों पर भी कड़ी नजर रखने हेतु उनसे मिलने वाले मुलाकातियों पर विशेष ध्यान दिया जाये, ताकि अपराधी जेल में रहकर किसी भी अप्रिय घटना को अंजाम न देने पायें।
मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये कि आगामी पर्वों को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने हेतु श्रद्धालुओं की सुरक्षा हेतु आवश्यकतानुसार बल की तैनाती सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि थाना से लेकर जोन स्तर तक के अधिकारियों को पैदल गश्त कर आम जनता से संपर्क कर उनका सहयोग एवं समर्थन प्राप्त करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *