रोहतक। साध्वियों के साथ यौन उत्पीड़न के दोषी गुरमीत राम रहीम की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। रणजीत सिंह व पत्रकार छत्रपति मर्डर केस में चल रही सुनवाई के बीच अब दो और साधुओं को नपुंसक करने के मामले में वे फंस गए हैं। ये दोनों डेराप्रेमी 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा के मामले में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए थे। पुलिस पूछताछ में जब दोनों के नपुंसक होने का खुलासा हुआ तो पुलिस ने यह केस सीबीआई को रैफर कर दिया था।

डेरामुखी पर अनुयायियों को नपुंसक बनाने के आरोप पहले से लगे हुए हैं और इस मामले की जांच सीबीआई द्वारा की जा रही है। सीबीआई से जुड़े सूत्रों के अनुसार दो और नपंसुक बनाने के सामने आने के बाद सीबीआई के तीन अधिकारियों की टीम इस मामले में जांच के लिए मंगलवार को रोहतक की सुनारिया जेल पहुंची। डेरामुखी को उसकी बैरक से बाहर निकाल कर सीबीआई अधिकारियों ने पूछताछ के लिए एक प्रशासनिक ब्लॉक के एक कैमरे में बैठाया।

सूत्रों के अनुसार बंद कमरे में करीब डेढ़ घंटा सीबीआई अधिकारियों ने डेरामुखी से इस बारे बातचीत की। कई तरह के सवाल भी उससे पूछे गए। बताया जा रहा है कि सीबीआई के सवालों के सामने बाबा राम रहीम के पसीने छूटने लगे। सीबीआई की टीम दोबारा भी राम रहीम से पूछताछ कर सकती है। बताते हैं कि डेरामुखी सीबीआई के सवालों का जवाब नहीं दे पाए।

दरअसल, पंचकूला हिंसा के दौरान गिरफ्तार किए आरोपियों में दो अनुयायी नपुंसक पाए गए थे, जिनमें डेरा प्रबंधक समिति के दान सिंह व राकेश अरोड़ा थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *