नई दिल्ली। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने एक बार फिर सरकार को घेरने के लिये देशव्यापी आंदोलन शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी है।
इस बार आंदोलन के केन्द्र में किसानों की बदहाली को रखते हुये श्रमिकों, कामगारों और पूर्व सैनिकों की समस्याओं को रखा गया है।

हजारे की आज यहां दर्जन भर से अधिक किसान और कामगार संगठनों के साथ हुई बैठक में यह फैसला किया गया। दिन भर चली बैठकों में आंदोलन की रूपरेखा पर विचार किया गया। अन्ना के एक सहयोगी ने बताया कि दिवाली के बाद हजारे आंदोलन की रूपरेखा का खुलासा करेंगे।

सूत्रों के अनुसार हजारे ने मध्य प्रदेश के किसान नेता और पूर्व विधायक सुनीलम, इंडिया अगेन्स्ट करप्शन की पूर्व सदस्य सुनीता गोदारा और न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) संतोष हेगड़े के अलावा अन्य किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। बैठक में हजारे की अगुवाई में आगामी दिसंबर के अंतिम सप्ताह या अगले साल जनवरी के पहले सप्ताह में किसान, मजदूर और पूर्व सैनिकों की समस्याओं को केन्द्र में रखते हुये आंदोलन शुरु करने पर सहमति बन गयी है।
आगामी दस अक्तूबर को हजारे उड़ीसा के किसान नेता अक्षय कुमार की अगुवाई में जंतर मंतर पर नवनिर्माण कृषक संगठन के बैनर तले होने वाले किसान आंदोलन में शिरकत करेंगे। किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से बैठक में उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में किसानों की बदहाली को खत्म करने के लिये किये गये वादों को पूरा करने के नाम पर सिर्फ छलावा किया गया है। किसानों की हालत बदतर हुई है और भ्रष्टाचार कम होने के बजाय बढ़ा है। किसान संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा हजारे के मंच का राजनीतिक इस्तेमाल किये जा सकने की आशंका जताने पर उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से सबक लेकर यह तय किया गया है कि आगामी आंदोलन से जुड़ने वाले प्रत्येक व्यक्ति को भविष्य में चुनावी राजनीति से जुड़े बिना समाजसेवा करने का लिखित संकल्प हलफनामे के साथ लेना होगा। उन्होंने आंदोलनकारी से राजनेता बने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम लिये बिना कहा कि आंदोलन को पूरी तरह से गैर राजनीतिक बनाये रखने के लिये आंदोलन के मंच को राजनेताओं से पूरी तरह से दूर रखा जायेगा। हजारे के एक सहयोगी ने बताया कि बीते दो दिनों में दिल्ली प्रवास के दौरान उन्होंने केजरीवाल, प्रशांत भूषण, योगेन्द्र यादव सहित ऐसे किसी पूर्व सहयोगी से मुलाकात नहीं की है जिसने राजनीति का दामन थाम लिया हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *