बांदा: दो नाबालिग छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में वांछित उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की नरैनी सीट से भाजपा विधायक राजकरन कबीर का प्रतिनिधि गिरफ्तारी से बचने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट में डेरा जमाए हुए है।

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की नरैनी सीट से भारतीय जनता पार्टी विधायक के प्रतिनिधि और उनके बेटे के खिलाफ नाबालिग छात्राओं से छेड़छाड़ और घर में घुसकर मारपीट के मामले में पीड़िताओं का अदालत में बयान दर्ज होने के बाद पिता और बेटे फरार हो गए हैं। 
मामले के विवेचक और नरैनी थाने में तैनात उपनिरीक्षक रामआसरे त्रिपाठी ने मंगलवार को बताया,’विधायक प्रतिनिधि नंदकिशोर ब्रह्मचारी और उनका बेटा राहुल कई दिनों से फरार हैं। दोनों नामजदों की गिरफ्तारी के लिए संभावित जगहों पर दबिश दी जा रही है।” उन्होंने बताया, ”पीड़ित छात्राओं और उनके परिजनों के बयान संबंधित अदालत में सीआरपीसी की धारा-164 के तहत दर्ज कराए जा चुके हैं।’
विवेचनाधिकारी ने बताया कि यदि गिरफ्तारी संभव नहीं हुई तो शीघ्र ही अदालत से कुर्की का आदेश हासिल किया जाएगा। विवेचक ने माना कि गिरफ्तारी को लेकर पुलिस पर ब्राह्मण समाज का जबरदस्त दबाव है। इस मामले में लामबंद हो चुके ब्राह्मण समाज का मानना है कि बीजेपी नेतृत्व पीड़िताओं की वाजिब मदद नहीं कर रहा और न ही विधायक पर आरोपी को प्रतिनिधि पद से हटाने का दबाव बना रहा है, जिससे विधायक के दबाव में पुलिस आरोपियों को बचाने की कोशिश में लगी है। 
ब्राह्मण समाज के नेता रामसेवक शुक्ला का आरोप है,’नरैनी पुलिस भाजपा विधायक के दबाव में आकर मामले में पुलिस अंतिम रिपोर्ट (एफआर) लगाने का तानाबाना बुन रही है। उन्होंने पुलिस को चेतावनी दी कि समूचे जिले के ब्राह्मण आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी न होने पर पुलिस अधीक्षक और डीआईजी का घेराव करेंगे।

बुदेलखंड में इस समय महिलाओं की लड़ाई लड़ने में आगे ‘नारी इंसाफ सेना’ ने भी मामले में वांछितों की गिरफ्तारी की मांग उठाई है। इस संगठन की अध्यक्ष वर्षा भारतीय ने जारी बयान में कहा कि विधायक का प्रतिनिधि मासूमों से छेड़छाड़ करता है और विधायक चुप्पी साधे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *