*अंबाला जिला के किसानों के लिए आयोजित किया गया मेला, राज्य के हर जिले में लगेंगे मेले 

*सौ किसानों को वितरित किए ढाई करोड़ के चेक 

अंबाला/साह। हरियाणा के किसानों के लिए कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने अंबाला से एक नई शुरूआत की। किसानों के लिए हर जिले में लगाए जाने वाले सब्सिडी मेलों की कड़ी में पहला मेला अंबाला में लगाया गया। इस मेले में 100 किसानों को 2.50करोड़ की सब्सिडी दी गई। जिले के 475 किसानों को इस मेले का फायदा मिलेगा। किसानों को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि इतिहास में ऐसा पहला अवसर है जब सब्सिडी और ऋण किसानों को नवीनतम कृषि तकनीकों की जानकारी देने के साथ-साथ सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान राशि का वितरण और आधुनिक तकनीक के कृषि उपकरण खरीदने के लिए ऋण की सुविधा प्रदान की जा रही है।

कृषि मंत्री आज मोदी पैलेस तेपला में कृषि विभाग द्वारा आयोजित जिला स्तरीय अनुदान एवं ऋण वितरण किसान मेले में उपस्थित किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर कृषि मंत्री ने किसानो को उद्यमशील बनकर खेती करने के लिए प्रेरित करते हुए अपनी आमदनी को दोगुना करने के लिए भी कहा। उन्होंने इस अवसर पर अम्बाला जिला में लगभग 100 किसानो को, जिन्हे विभाग द्वारा चिन्हित किया गया था, उन्हें कृषि यंत्रों पर अनुदान राशि के लगभग 2.50 करोड़ रुपए के चौक वितरित किए। उन्होंने इस मौके पर कहा कि केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकार किसानो को स्वाबलम्बी बनाने, कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है तथा किसानो को भी सरकारी योजनाओं का लाभ लेकर अपनी उत्पादन में वृद्धि करनी है। इस मौके पर कृषि मंत्री ने किसानो से बातचीत करते हुए उन्हें कृषि यंत्रों पर मिल रही अनुदान राशि की भी जानकारी हासिल की। किसानो से सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है, जब किसानो को कृषि यंत्रों पर समय रहते अनुदान राशि सीधे उनके खाते में मिली है।

इस मौके पर उन्होंने किसानों का आहवान किया कि वह कृषि क्षेत्र के साथ-साथ पशुपालन को भी व्यवसाय के रूप में अपनाकर अपनी आमदनी में बढ़ौतरी करें। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा पशुपालन के लिए किसानों को बहुत ही कम दर पर ऋण की सुविधा उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने कहा कि किसानो को योजनाओं के लाभ देने में जो  किसान समय रहते उस ऋण की अदायगी कर देता, उसका ब्याज भी सरकार द्वारा वहन किया जाता है। उन्होंने कहा कि किसान खेतों में धान की फसल की कटाई के बाद खेतों में अवशेष न जलाएं। इसीलिए उन्हें बेहतर कृषि यंत्र उपलब्ध करवाए जा रहे हैं और उन्हें यह यंत्र किसान मेले के माध्यम से सब्सिडी पर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जो किसान मध्यम वर्ग से सम्बन्धित हैं, उन्हें भी विभाग द्वारा यंत्र खरीदकर रियायती दरों पर किराए के तौर पर देने का काम किया जा रहा है ताकि वह इन आधुनिक यंत्रों का प्रयोग करे अपनी खेती को बढ़ावा दे सकें और स्वाबलम्बी बन सकें। 
उन्होंने इस मौके पर विपक्ष पर प्रहार करते हुए कहा कि विशेषकर कांग्रेस को आडे हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस ने किसानो के हित में कुछ नही किया, किसानो का शोषण कर मात्र वोट हथियाने का काम किया है। उन्होंने पूर्व सीएम हुडड़ा का नाम लेते हुए कहा कि उनसे पूछ लेना कि कभी किसानों को सब्सिडी देने के लिए ऐसे मेले लगाने के बारे में उन्होंने कभी सोचा भी था क्या। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने किसानो को उन्नत खेती के लिए जहां प्रेरित करने का काम करते हुए अनेकों महत्वाकांक्षी योजनाओं को लागू करने का काम किया है, वहीं किसानों को तीन हजार करोड़ रुपए का फसलों का मुआवजा देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश में आगे भी इस तरह के मेले आयोजित कर उन्हें जिला अनुसार आधुनिक तकनीक के कृषि उपकरण खरीदने के लिए ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी।
इस मौके पर किसान आयोग के चेयरमैन डा0 रमेश यादव, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा व जिला प्रधान जगमोहन लाल कुमार ने भी किसानों को सरकार की योजनाओं का लाभ लेते हुए उन्नत कृषि के लिए प्रेरित किया। विभाग के निदेशक डी.के. बैहरा ने अपने सम्बोधन में बताया कि कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड के विशेष प्रयासों से पहली बार केन्द्र सरकार द्वारा नवीनतम कृषि यंत्रों के लिए 75 करोड़ रुपए की राशि मंजूर करवाई गई है और यह पहली किस्त है। उन्होंने कहा कि आज से पहले किसी ने भी इतनी राशि मंजूर नही करवाई। उन्होंने किसानो को फसलों के अवशेष न जलाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर विभाग के निदेशक डी.के. बैहरा,  अतिरिक्त निदेशक डा0 जगदीप बराड़, एसडीएम सुभाष चन्द्र सिहाग, डीडीपीओ रेनू जैन, कृषि उपनिदेशक सुरेन्द्र यादव, किसान आयोग के चेयरमैन डा0 रमेश यादव, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा, जिला प्रधान जगमोहन लाल कुमार, साहा मंडल प्रधान रमन वासन, राजबीर, गुलशेर सिंह बड़ौला, सुभाष शर्मा, नेत्रपाल राणा, सुरजीत सिंह, मोनिका कालड़ा, सुमनीत कौर सरपंच, सतीश कुमार, राज सिंह, मदन विस्तारक, डा0 बलदेव सिंह, पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डा0 प्रेम, बागवानी अधिकारी हवा सिंह, सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *