10 जुलाई को अमरनाथ यात्रियों को इस्माइल ने ही निशाना बनाया था। 24 वर्ष का इस्माइल पाकिस्तान का नागरिक था और दो वर्ष पहले दक्षिण कश्मीर में घुसपैठिए के तौर पर दाखिल हुआ था।

पाकिस्तानी आतंकियों पर भारतीय सुरक्षा बलों का कहर जारी है। आज (14 सितंबर को) सुरक्षा बलों ने जम्मू-कश्मीर के नौगाम में लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर अबु इस्माइल को मुठभेड़ में मार गिराया है। अबु इस्माइल पर 10 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। 10 जुलाई को अमरनाथ यात्रियों को इस्माइल ने ही निशाना बनाया था। 24 वर्ष का इस्माइल पाकिस्तान का नागरिक है और दो वर्ष पहले दक्षिण कश्मीर में घुसपैठिए के तौर पर दाखिल हुआ था।


बता दें कि बुरहान वानी के मारे जाने के बाद अबु इस्माइल चौथा आतंकी सरगना है जो भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा मार गिराया गया है। पिछले महीने पहली अगस्त को सुरक्षा बलों ने लश्कर के टॉप कमांडर अबु दुजाना को मार गिराया था। उसकी मौत के बाद अबु इस्माइल को लश्कर का कमांडर बनाया गया था। सेना की हिटलिस्ट में शामिल आतंकियों में अबु दुजाना टॉप पर था। उस पर भी 15 लाख का ईनाम था।
इसी साल सुरक्षा बलों ने 27 मई को हिजबुल के कमांडर सब्जार भट्ट को भी एनकाउंटर में मार गिराया था। सब्जार की मुठभेड़ में मौत के बाद घाटी में हिंसा और ज्यादा भड़क उठी थी। भट्ट की मौत के बाज सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी की घटना बढ़ गई थी। इसी साल पहली जुलाई को भी सुरक्षा बलों ने लश्कर कमांडर बशीर लश्करी को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग के बरेन्टी गांव में मार गिराया था। उसके साथ आजाद मलिक भी सुरक्षा बलों के हत्थे चढ़ा था। लश्करी अचबल में 16 जून को आतंकी हमले में छह पुलिसकर्मियों की हत्या करने में शामिल था।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अबु इस्माइल की मौत के बाद साल 2017 में मारे जाने वाले आतंकियों का आंकड़ा 130 के पार पहुंच गया है। इसके अलावा बीते लगभग 13 महीनों में अलग-अलग आतंकी संगठनों के टॉप 5 कमांडरों को भी खत्म किया जा चुका है। बता दें बीते जून महीने में सेना ऑपरेशन ऑल आउट की शुरुआत की थी। इस ऑपरेशन के तहत सेना ने 258 आतंकियों की एक हिट लिस्ट तैयार की थी। दुजाना के मारे जाने के बाद माना जा रहा है यह संख्या 130 पर पहुंच गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *