खुफिया एजेंसी को गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की जान को खतरा होने की भनक लगी है। हनीप्रीत 25 अगस्त को रोहतक से गायब हुई थी जो अभी तक नहीं मिली है। हनी बाबा राम रहीम की राजदान मानी जा रही है। गुरमीत समर्थकों को आशंका है कि हनीप्रीत जिस दिन पुलिस के हाथ लग गई सारे राज बेपर्दा हो जाएंगे। 

हरियाणा पुलिस ने ऐसे हालत में एलर्ट हो गई है। हरियाणा पुलिस द्वारा उन सभी संभावित ठिकानों पर फिर से दस्तक दी जा रही है।

हरियाणा पुलिस को खुफिया एजेंसियों से इनपुट मिला है कि हनीप्रीत की जान को डेरा तंत्र से खतरा है। भारत-नेपाल बार्डर से खाली हाथ लौटी हरियाणा पुलिस फिर से हनीप्रीत को ढूंढने में जुट गई है। गौरतलब है कि रोहतक जेल प्रशासन ने ही हनीप्रीत को रोहतक से आसानी से जाने दिया था, लेकिन अब उसका कोई सुराग नहीं मिल रहा।

लापता: क्या नेपाल में है हनीप्रीत इंसा? हरियाणा पुलिस की टीम पहुंची

पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने हनीप्रीत के ऑस्ट्रेलिया भागने की संभावनाओं को खारिज किया, लेकिन उन्होंने अपनी टीमें मुंबई और भारत-नेपाल बार्डर के आसपास ही तैनात करने के निर्देश दिए हैं। नेपाल में गुरमीत राम रहीम का पूरा रसूख है। हनीप्रीत को लेकर इंटरनेशनल अलर्ट भी जारी किया जा चुका और सभी एयरपोर्ट पर सूचना भिजवा दी गई है।
     
हरियाणा पुलिस को लग रहा है कि विदेश भागने की हर तरह की कोशिश में हनीप्रीत को धरा जा सकता है। इसलिए वह जहां भी जाएगी, सडक़ मार्ग का इस्तेमाल करेगी। ऐसे में उसके लिए सबसे ज्यादा सुरक्षित नेपाल ही है। डेरे की चेयरपर्सन विपसना की ओर से हनीप्रीत को आत्मसमर्पण की सलाह दी जा चुकी है और डेरा उससे अपना नाता तोड़ चुका है। 

सजा: राम रहीम के जेल में होने से परेशान हैं बाकी कैदी, की हड़ताल

गुरमीत राम रहीम के विश्वासपात्रों में शामिल आदित्य इंसा और हनीप्रीत को पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने सरेंडर करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत और आदित्य इंसा पुलिस के सामने खुद को पेश कर जांच में शामिल हों। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत और आदित्य इंसा के रिश्तेदारों, दोस्तों और अन्य परिचितों के यहां छापे मारे गए हैं और जहां-जहां से लीड मिल रही है, पुलिस छानबीन कर रही है।
नेपाल बॉर्डर से बरामद जालंधर नंबर की कार से हनीप्रीत के फरार होने से जुड़े सवाल पर डीजीपी ने कहा कि उस कार से हनीप्रीत का कोई संबंध नहीं है। बता दें दोनों के खिलाफ 25 तारीख को पंचकूला समेत राज्य के अन्य हिसों में हुई हिंसा, तोडफ़ोड़ और आगजनी के बाद देशद्रोह का मामला दर्ज कर लुक आउट नोटिस जारी हो चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *