मित्रो!

जी हिन्द!!


स्नेही मित्रो, आज हम आपको फरवरी 2005 की अपनी एक राजनीतिक विश्लेषण और सर्वेक्षण रिपोर्ट से रूबरू करवाना चाहते हैं।


हमने कुछ विशेष राजनीतिक माहिर विचारकों से उस मौजूद समय के हरियाणा के कुछ नेतायों पर उनके भूत और भविष्य के कुछ बिंदुयों को लेकर चर्चा की। हरियाणा की राजनीति देश के अन्य क्षेत्रों से बिल्कुल हटकर है। अगर हम आज हरियाणा की राजनीति पर कुछ बात करें या लिखें तो शायद उस पर कोई हमें देश द्रोही, आपिये चुटीयापिये, या फेंकू भगत कह दे। हमने उपरोक्त विषय पर राजनीतिक सर्वेक्षण और परिचर्चा एक स्थानीय सांध्य समाचार पत्र में प्रकाशित भी की थी। लेकिन तब भी बहुत से लोगों ने हमें खूब गालियां दी। हालांकि प्रकाशित करने से पहले हमने उपरोक्त नेतायों को सावधान भी किया। हमने और हमारे मित्रों ने कुछ हमारे जानकार राजनीतिक विशेषज्ञों , विचारकों (थिंकर्स) उन्हें मदद लेने का मशविरा भी दिया था। पर खेद है कि तब उन नेतायों ने हमारे सुझाव को शायद ज़्यादा भाव नहीं दिया और उपरोक्त रिपोर्ट प्रकाशित होने के बाद भी बहुत हल्के में लिया और गालियां देकर रिपोर्ट को अनदेखा कर दिया था। आज आप उसी रिपोर्ट को अगर एक बार पढ़ लें तो शायद आपको याद आ जाए और आप खुद ही इसका परिणाम ओर उत्तर देख लें, सुन लें, बता दें। 


 यद्यपि आज हम अपने उन थिंक टैंक की रिपोर्ट और सर्वेक्षण मौजूद राजनीतिक परिपेक्ष पर लिखें तो संभव है हमें नतीज़तन भक्तों से देश द्रोही अथवा आस्तीन के सांप और ना जाने क्या क्या भला बुरा सुनना पड़े। हो सकता है भक्तों की असहिष्णुता हम पर बरस जाए। लेकिन एक बात हम आपको अवश्य कह सकते हैं कि फ़िलहाल भविष्य के चुनाव में फिर से बहुमत हासिल करने के लिए न केवल ख़ुद का सुधार करना होगा और अपनी रननीति में बदलाव करना होगा बल्कि उन्हें हमारे सुझावनुसार राजनीतिक माहिर थिंक टैंक की सहायता लेकर अमल करना होगा। वार्ना हरियाणा में भविष्य के चुनाव परिणाम उनके लिए घातक होंगे। उदहारण के लिए फरवरी 2005 के चुनावों से पूर्व की सांध्य समाचार में प्रकाशित रिपोर्ट की भांति हमती भविष्य की रिपोर्ट उनके भविष्यवाणी बन जाएगी। सनद रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली बार भाजपा के उम्मीदवार बनकर अंबाला में चुनाव प्रचार करने आए थे तब उन्होंने मंच से कहा था कि अंबाला के मीडियाकर्मी राजनीतिक क्षेत्र में बड़ी गंभीरता से बहुत पुख्ता तथ्यों के आधार पर लिखते हैं और जब लिखते हैं यो उनकी लिखी हुई बात का असर पूरे देश में दिखता है।

One Reply to “​राजनीतिक भविष्यवाणी!”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *