​चण्डीगढ।  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि पंचकुला में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा संस्थान बनाया जाएगा। इसके अलावा, सरकार द्वारा संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के उद्धेश्य से गांव मुंदड़ी में महर्षि वाल्मीकि के नाम पर संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना करवाई जा रही है और प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर गुरूकुल भी खोले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आयुष विभाग में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत जिला स्तर पर आयुष विंग स्थापित किए जा रहे हैं ,जिनमें योग विशेषज्ञों की नियुक्ति भी की जा रही है। 

मुख्यमंत्री  मनोहर लाल आज तीसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जिला करनाल के इन्द्री में आयोजित जिला स्तरीय योग कार्यक्रम में योग साधकों के साथ योग करने उपरांत उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि श्री कृष्णा राजकीय आयुर्वैदिक महाविद्यालय कुरूक्षेत्र को आयुष विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया है। जिला महेन्द्रगढ़ के पट्टीखेड़ा गांव में राजकीय आयुर्वैदिक कालेज स्थापित हो रहा है। स्कूलों, कालेजों और विश्वविद्यालयो में योग सिखाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि योग शारीरिक, मानसिक, बौद्धिक और आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ बनने का मूल मंत्र है, यह मन, आत्मा और शक्तियों का बोध करवाने का कारगर रास्ता है, योग, कला, विज्ञान, दर्शन का बेजोड़ उदाहरण हैं। योग में समूची मानवता को एकजुट करने की अद्भूत शक्ति है, योग हमें अपनी महान संस्कृति और परम्पराओं से जोड़ता है, जब योग जीवन का हिस्सा हो जाता है तो आयु, विद्या, यश और बल एक साथ बढऩे लगते हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि योग हमारी प्राचीन परम्परा का अमूल्य उपहार है। योग मन और शरीर, विचार और कार्य,अवरोध और सिद्धि को साकार रूप प्रदान करता है, व्यक्ति और प्रकृति के बीच सामंजस्य बनाता है, इसमें केवल व्यायाम नहीं बल्कि प्रकृति और मनुष्य क े बीच की कड़ी है। उन्होंने कहा कि आज पूरा विश्व योगमय हो रहा है, इस बात का श्रेय हमारे कर्मयोगी एवं दूरदर्शी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जाता है। उन्होंने सदियों से भारत की पहचान रही योग विद्या को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पुन: स्थापित किया है। संयुक्त राष्ट्र की महासभा में नरेन्द्र मोदी ने अपने पहले भाषण में योग दिवस मनाने की जोरदार पैरवी की थी, जिसका 177 देशों ने समर्थन किया था। 
उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा योग को बढ़ावा देने के उद्धेश्य से योग एवं व्यायामशाला नामक एक कार्यक्रम शुरू किया गया है, जिसके तहत सभी गांवो और शहरों की बस्तियों में योगशाला खोली जा रही हैं। इसके अलावा, गांव-गांव में खेल स्टेडियम भी बनाए जा रहे हैं ताकि खिलाडिय़ों को गांव में ही अच्छी खेल सुविधाएं मिलें और वे देश के लिए ज्यादा से ज्यादा मैडल लेकर आएं। 
उन्होंने लोगों से अपील की कि वे योग को अपनी दिनचर्या का अभिन्न अंग बनाएं ताकि आप स्वच्छ, स्वस्थ और समृद्ध भारत का सपना साकार करने में अपना योगदान दे सकें। योग कार्यक्रम में आयुष विभाग के साथ-2 पतंजलि योग समिति,भारत स्वाभिमान के सदस्यों का भारी सहयोग रहा है।  इस कार्यक्रम में इन्द्री के विधायक एवं हरियाणा के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री कर्णदेव काम्बोज, मेयर रेणूबाला गुप्ता ने भी हजारों की संख्या में पहुंचे योग साधकों के साथ योग किया। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के हर जिले और हर उपमंडल में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया है, इसके लिए उन्होंने प्रदेश के लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं व बधाई दी। मुख्यमंत्री ने योग ऋषि स्वामी रामदेव के अनन्य सहयोगी आयुर्वेद एवं योग विद्या के पारंगत विद्वान आचार्य बालकृष्ण जी द्वारा रचित योग विज्ञानम् ग्रंथ का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 7 योग साधक प्रतिभाओं को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस अवसर पर ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, मेयर रेणूबाला गुप्ता, जिलाध्यक्ष जगमोहन आनन्द, पूर्व केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री आईडी स्वामी, पूर्व मंत्री शशिपाल मेहता, भाजपा नेता योगेन्द्र राणा सहित अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *