अंबाला से भाजपा सांसद रत्नलाल कटारिया ने आज प्रेसवार्ता में अंबाला छावनी से विधायक एवं हरियाणा कैबिनेट मंत्री अनिल विज को खुलकर आढ़े हाथों लेते हुए कहा कि किसी व्यक्ति से कोई नफरत की एक सीमा होती है लेकिन अगर उनकी मुख़ालफ़त और दुष्प्रचार का षड्यंत्र रचने वाले अंबाला की सड़कों पर उनके साथ निकालकर देख लें तो उन्हें पता चल जाएगा कि कौन किसे नफ़रत से देखता है? 

अंबाला के एक भाजपा कार्यकर्ता की रतन लाल कटारिया के लापता होने की शिकायत और कैबिनेट मंत्री अनिल विज द्वारा कार्यकर्ता की शिकायत का समर्थन करने पर कि कटारिया 3 साल से अंबाला छावनी नही आये, भाजपा सांसद ने अपने लापता होने की खबर पर सफाई देते हुए कहा कि ऐसी खबर पहले यमुनानगर से भी चली थी और अब अंबाला से यह खबर अखबार में आई है।

  उन्होंने कहा, “वह बाल्यकाल में पंडित जवाहर लाल नेहरू के हाथों पुरस्कृत होने के पश्चात राजनीति में हूं और 53 साल से पार्टी का और RSS का कार्यकर्ता हूं। रहा लापता होने का सवाल इससे ज्यादा षड्यंत्र पूर्वक आरोप कोई हो नहीं सकता।” कटारिया ने कहा कि उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन क्या कह रहा है? उन्होंने कहा कि विधायक का अपना काम होता है और सांसद अपना काम करता है। यह भाजपा किसी के बाप की जागीर नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि किसी को कोई आपत्ति है तो वह पार्टी मंच पर उठा सकता है या अपने सांसद से बात कर सकता है। उन्होंने कहा कि पार्टी को बदनाम करने की चेष्टा यह एक गंभीर अपराध है। इन बातों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। उन्होंने बिना नाम लिए कहा कि हां कुछ ऐसे नेता है जो पहले पार्टी से बाहर थे और अब वह पार्टी के अंदर है लेकिन जिला कार्यकारिणी की बैठक में उन्होंने कभी हिस्सा नहीं लिया। कटारिया ने कहा कि पार्टी में रहते हुए कई बार मन मुटाव भी चलते हैं लेकिन भाजपा एक प्रजातांत्रिक पार्टी है और हरियाणा के विकास में पूरा-पूरा योगदान दे रहे हैं। पार्टी में वैचारिक मतभेद होना एक अलग बात है। उन्होंने आश्वस्त किया कि वह ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे उनकी पार्टी को कोई नुकसान पहुंचे। उन्होंने लापता होने की शिकायतकर्ता और उसके समर्थक नेता से कहा कि आज मैं अंबाला छावनी रेस्ट हाउस में बैठा हूं वह यहां आकर मुझसे मिल सकता है।

    सांसद ने कहा कि उन्होंने अपना जीवन पार्टी के लिए लगाया है, किसी एक मंत्री के लिए नहीं लगाया और न ही वे मेरे मार्ग दर्शक हैं जिन लोगों ने मेरा जीवन बनाया है।  उन्होंने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि अभी तो चुनाव के समय पड़ा है लेकिन कुछ लोगों के अभी से पेट में  दर्द शुरू हो गया है। उन्होंने अनिल विज का नाम लिए बिना कहा कि उनके बारे में मिडिया में कहा गया था कि वे एक लाख वोटो से हारेगा।  उन्होंने कहा कि वे कुछ बोलना नहीं चाहते क्योंकि पार्टी का नुक्सान हो जायेगा। कटारिया ने विज पर चुटकी लेते हुए कहा कि नफरत की भी कोई एक किसी व्यक्ति से नफरत की भी एक सीमा होती है। उन्होंने कहा कि जब मुझे कोई मुस्लिम लीग का भी मिलता है तो मैं उसे गले लगा लेता हूं।  उन्होंने कहा कि तालिबानी की तरह से जो व्यवहार करता है वो लोकतंत्र का हिस्सा नहीं है और जो कार्यकर्ता सीएम विंडो पर शिकायत दे रहा है वे भी किसी नेता विशेष का चश्मा उतार कर रतन लाल कटारिया के व्यक्तित्व को देखे तब उसे पता चल जायेगा कि कटारिया क्या है?  उन्होंने अंबाला के भाजपा कार्यकर्ताओं को खुला चैलेंज करते हुए कहा कि वे उनके साथ बाज़ारों में निकलकर देखें कौन किसे नफरत से देखता है?  अनिल विज पर बोलते हुए उन्होंने कैबिनेट मंत्री अनिल विज को भी खुला चैलेंज देते हुए कहा कि वे जब तक पार्टी में है उनके आदरणीय हैं वे कुछ भी बोल सकते हैं लेकिन अगर वे पार्टी से बाहर होते तो फिर आप कटारिया का रूप देखते। उन्होंने फिर बिना नाम लिए कहा कि कुछ ऐसे लोग हैं जिन्होंने पार्टी हाई कमान को कहा कि अगर कटारिया को टिकट दिया तो वे लाखों वोटों से हारेगा लेकिन बाद में जब वे लाखों वोटो से जीत गए।  वही मौके पर बैठे जिला अध्यक्ष ने कहा कि सीएम विंडो पर शिकायत करने वाला व्यक्ति कोई भी पदाधिकारी नहीं है उसके खिलाफ जो भी करवाई बनेगी वे करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *