चंडीगढ़। हरियाणा में पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रदेश के हर गांव में स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा और इस अभियान में गांव की पंचायतें, ब्लॉक समितियां, जिला परिषदों के अलावा सभी सामाजिक संगठन और ग्रामीण शामिल रहेंगे। 

योजनाबद्ध स्वच्छता अभियान के लिए हरियाणा के पंचायत विकास मंत्री ओ.पी.धनखड़ ने बकायदा जनप्रतिनिधियों को पत्र भेजकर सक्रिय भागीदारी निभाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का हर नागरिक स्वच्छता सिपाही बनकर इस अभियान को सफल बनाए। अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण दिवस पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश को स्वच्छ बनाने के आह्वान को सफल बनाने के लिए हरियाणा के लोग जोर-शोर से काम करेंगे। 

   धनखड़ ने कहा कि इसके लिए प्रदेश में व्यापक तैयारियां की गई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि पर्यावरण की स्वच्छता में वातावरण स्वच्छ, साफ जल, वायू और भूमि भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि ये सब कार्य जनप्रतिनिधियों और आम नागरिकों के बिना संभव नहीं है। पंचायत मंत्री ने इस बात पर खुशी जताई कि 23 जून 2017 को श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस के अवसर हरियाणा खुले में शौच मुक्त हो जाएगा। 

उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश, सिक्किम, केरल के बाद यह उपलब्धि हासिल करने वाला हरियाणा चौथा राज्य बन जाएगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा ओडीएफ की ओर बढ़ रहा है ताकि हमारे गांव साफ, स्वच्छ और सुंदर हों। ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के माध्यम से ग्रामीण परिवेश में स्वच्छता के नए आयाम स्थापित किये जा रहे हैं। गांवों का स्वच्छ बनाने में पंचायती राज की भी अहम भूमिका है। इसलिए पंचायती राज से जुड़े सभी प्रतिनिधि पांच जून को पर्यावरण दिवस में अहम भूमिका निभाकर इसकी सार्थकता साबित करेंगे। उन्होंने कहा कि हम सभी का दायित्व है कि यह संदेश जन-जन तक पहुंचाएं। 

स्वच्छता अभियान के दौरान दो घंटे के श्रमदान का जिक्र करते हुए पंचायत मंत्री ओ.पी. धनखड़ ने कहा कि सभी गांवों में सभी वर्गों के लोगों को लेकर प्रभात फेरी निकाली जाएगी। गांवों में स्वच्छता गतिविधियों को स्थाई रूप से चलाने के लिए विमर्श करने के लिए ग्राम सभा का आयोजन भी किया जाए। खुले में शौच मुक्त अभियान को सफल बनाने के अलावा ठोस व तरल कचरा प्रबंधन पर चर्चा करके स्थाई समाधान किए जाने की अपील मंत्री ने की है। 

पंचायत मंत्री ने यह भी कहा कि प्रत्येक नागरिक स्वच्छता सिपाही बनकर इस दिन दो घंटे श्रमदान करके अपने गांव को सुंदर बनाएं। जनप्रतिनिधियों का पंचायत मंत्री ने आह्वान किया है कि वे उन्हें सीधे यह रिपोर्ट भी करें कि किस गांव में कितने लोगों ने भागीदारी की। उन्होंने इस अभियान को जीवन में स्थाई रूप से अपनाने का भी आह्वान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *