​चंडीगढ। मीडिया जनमत बनाने का सबसे शक्तिशाली माध्यम है। इसलिए मीडिया को ऐसा योग्य जनमत बनाने के लिए कमर कस लेनी चाहिए जिसके मन में बुरा काम करने की इच्छा ही पैदा न हो। यह बात हरियाणा के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी ने आज चण्डीगढ प्रेस क्लब में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के उपलक्ष में आयोजित समारोह में बोलते हुए व्यक्त किए।

     राज्यपाल ने कहा कि भारी कर लगा देने अथवा सख्त कानून बना देने से किसी गलत काम में अथवा तम्बाकू के उपभोग पर रोक नहीं लग सकती। इनके विरूद्ध जनमत बनाने से ही यह रोक सम्भव है। ऐसा करके हम देश में हर साल तम्बाकू के उपभोग के कारण मरने वाले आठ लाख से अधिक लोगों की जिन्दगी को बचा सकते हैं। 

तम्बाकू के विरूद्ध जागरूकता फैला रही सब संस्थाओं की सराहना करते हुए प्रो. सोलंकी ने मीडिया को भी इस काम में आगे आने की अपील की। उन्होंने कहा कि यदि हम तम्बाकू का उपभोग नहीं करते और हमारे आसपास के लोग करते हैं तो हमें भी कोई लाभ नहीं होने वाला क्योंकि जब तक सम्पूर्ण समाज स्वस्थ, समरस व लोकतांत्रिक नहीं है तब तक हम सुरक्षित नहीं हैं। इसलिए स्वयं तम्बाकू का सेवन न करें और दूसरों को भी इसके सेवन को छोड़ देने के लिए प्रेरित करें।
इससे पहले पूर्व रेलमंत्री पवन कुमार बंसल ने कहा कि तम्बाकू का सेवन विकास के मार्ग में बहुत बड़ी बाधा है। 2007 में चण्डीगढ को तम्बाकू मुक्त किया गया था। तब इस नगर में इससे हर साल 100 करोड़ रूपये का नुकसान होता था। इसके बाद अन्य कई नगर इस श्रेणी में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि तम्बाकू निषेध को जन-अभियान बनाया जाए। उन्होंने बच्चों के शिक्षकों और माता-पिता से अनुरोध किया कि वे बच्चों पर ध्यान दें व उन्हें तम्बाकू सेवन से बचाएं। 
कंज्युमर वाइस ग्रुप के सीओओ असीम सान्याल ने विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के बारे में विस्तार से बताया। चण्डीगढ प्रेस क्लब के अध्यक्ष जसवंत सिंह राणा ने सबका धन्यवाद किया।

इस अवसर पर चण्डीगढ जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अवतार सिंह, सिटीजन्स अवेयरनेस ग्रुप के अध्यक्ष सुरेन्द्र वर्मा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *