नई दिल्ली। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी रविवार (23 अप्रैल) को जंतर मंतर पहुंचे। वहां उन्होंने तमिलनाडु के किसानों से मुलाकात की जो कि काफी वक्त से वहां पर प्रदर्शन कर रहे हैं। पलानीस्वामी के सामने किसानों ने मांग रखी कि वे चाहते हैं कि उनका कर्ज जल्द से जल्द माफ हो जाए। किसानों ने यूपी की नई सरकार का भी जिक्र किया जिन्होंने हाल ही में किसानों का कर्ज माफ किया है। 

   इस पर पलानीस्वामी ने किसानों से वादा किया कि वे उनकी मांगों को पीएम तक लेकर जाएंगे। उन्होंने किसानों से हड़ताल को खत्म करने का भी आग्रह किया। लेकिन किसानों ने फिलहाल हड़ताल खत्म ना करने का मन बनाया है। वहां बैठे किसानों में से एक ने कहा, ‘तमिलनाडु के सीएम ने हमसे वादा किया है कि वह पीएम से हमारी मुलाकात कराएंगे, लेकिन तब तक हम लोग हड़ताल जारी रखेंगे।’

शनिवार को इन किसानों ने अपना मूत्र पीकर प्रदर्शन किया था। साथ ही आगे मल खाने की भी धमकी दी थी।
क्या है मामला: तमिलनाडु के किसान 37 दिनों से दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। ये किसान केंद्र से अपने लोन की माफी की मांग कर रहे हैं। उन किसानों का कहना है कि उनकी फसल कई बार आए सूखे और चक्रवात में बर्बाद हो चुकी है। किसानों ने उन लोगों को मिलने वाले राहत पैकेज पर भी पुनर्विचार करने के लिए कहा है। किसानों की यह भी मांग है कि उनको अगली साल के लिए बीज खरीदने दिए जाएं और हुए नुकसान की भरपाई की जाए।
किसानों में पीएम मोदी को लेकर खासी नाराजगी है। एक किसान ने कहा कि हम लोग यहां गर्म सड़क पर सो रहे हैं और पीएम एसी वाले कमरे में रहते हैं। कुछ किसानों ने दावा किया कि मोदी किसानों से गुलामों जैसा बर्ताव कर रहे हैं।
नरेंद्र मोदी सरकार को धमकी देने के बाद किसानों ने पिया मूत्र, दी मल खाने की चेतावनी
नरेंद्र मोदी के नकाब वाले शख्स से खुद को कोड़े लगवा रहे जंतर मंतर पर बैठे किसान, बोले- पीएम AC में सोते हैं, हम सड़क पर
जंतर मंतर पर बैठे किसान अरुण जेटली, उमा भारती, राजनाथ सिंह, राधा मोहन सिंह से मिल चुके हैं। लेकिन पीएम मोदी से उनकी मुलाकात नहीं हुई है। वे लोग ‘मोदी जी, मोदी जी जंतर मंतर आओ जी’ के नारे लगाते भी देखे गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *