चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि जेबीटी अध्यापकों की नियुक्ति पर रोक हटाने संबंधी ऑर्डर ज्यों ही पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट से राज्य सरकार को मिल जाएंगे, उसके 24 घंटे के अंदर नियुक्ति पत्र जारी कर दिए जाएंगे। 
    मुख्यमंत्री आज यहां सीएम आवास पर (हाई कोर्ट में हरियाणा सरकार द्वारा उनकी सही ढ़ंग से पैरवी करके नियुक्ति पर लगी रोक हटवाने पर) उनका धन्यवाद करने आए हजारों चयनित जेबीटी अध्यापकों को संबोधित कर रहे थे। 

    मुख्यमंत्री ने इन अध्यापकों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सरकार आज भी अपने वायदे पर कायम है कि कोर्ट के ऑर्डर रिसीव होते ही 24 घंटे के अंदर ज्वाइनिंग करवा देंगे,चाहे बेशक डीईओ ऑफिस में ज्वाइनिंग करवानी पड़े। उन्होंने कहा कि उनके मन में कभी भी ये ख्याल नहीं आया कि इन जेबीटी अध्यापकों का पिछली सरकार के कार्यकाल में चयन हुआ था और ज्वाइन नहीं करवाना है। आप लोग हमारे बेटे-बेटियां हैं। उन्होंने अपने बचपन के दिनों के समय एक प्राइमरी अध्यापक द्वारा उनको प्रेरित किए गए संस्मरण सुनाते हुए कहा कि वे भी जीवन में प्रेरणा लेकर चलें और समाज की भलाई करें। 

मुख्यमंत्री ने आह्वान किया कि अब उनको हरियाणा के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का ऐसा माहौल बनाना है कि प्रदेश के लोगों में अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में पढ़ाने की होड़ लगे। उन्होंने कहा कि प्राइमरी स्कूल के बच्चे कोरी स्लेट के समान होते हैं,ऐसे में अध्यापकों की जिम्मेवारी उन्हें संस्कारित व शिक्षित करने की होती है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने प्राइवेट स्कूलों के साथ मिलकर एक योजना बनाई है ताकि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई व अन्य गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा सके। 

    मुख्यमंत्री ने अध्यापकों को समाज का निर्माता बताते हुए कहा कि आप लोगों पर समाज का उत्थान निर्भर करता है। अगर आप लोग अच्छा पढ़ाएंगे तो हरियाणा का भविष्य सुधर जाएगा। रूट लेवल का कर्मचारी जैसा जनता के साथ व्यवहार करेगा सरकार की वैसी ही इमेज बनेगी। 

    हरियाणा हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन श्री जवाहर यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का हमेशा से चयनित जेबीटी अध्यापकों के प्रति सकारात्मक रूख रहा है जिसका परिणाम आज सबके सामने है। मुख्यमंत्री कहते रहे हैं कि मेरा हरियाणा के ढ़ाई करोड़ लोगों का परिवार है और ये चयनित जेबीटी अध्यापक भी हमारे बच्चे हैं। 

    चयनित जेबीटी अध्यापकों की ओर से पात्र अध्यापक संघ के प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र शर्मा,ज्योति भाटिया व अन्य अध्यापकों ने हाईकोर्ट में उनकी सही ढ़ंग से पैरवी करके नियुक्ति पर लगी रोक हटवाने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल,शिक्षा मंत्री श्री रामबिलास शर्मा व हरियाणा हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन श्री जवाहर यादव का धन्यवाद किया तथा आश्वासन दिया कि वे नियुक्ति लेने के बाद सरकारी स्कूलों में बच्चों को पूरे मनोयोग से पढ़ाएंगे तथा शैक्षणिक माहौल को और अधिक बेहतर बनाने के लिए पूरी मेहनत करेंगे। इन अध्यापकों ने यह भी कहा कि हरियाणा के निर्माण से लेकर आज तक का यह इतिहास रहा है कि वर्तमान सरकार से पहले किसी भी पिछली सरकार ने उनसे पहले की सरकार के कार्यकाल के दौरान जारी की गई रिक्तियों,चयनित आवेदकों या अन्य शुरू की गई भर्ती प्रक्रिया को संपन्न नहीं करवाया। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार को समान-दृष्टा व पारदर्शी बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *