चंडीगढ़/​अंबाला। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री  अनिल विज ने शहरी स्थानीय निकाय, पंचायती राज विभाग तथा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण समेत विभिन्न विभागों को उनके अधिकार क्षेत्रों में एक मई, 2017 से सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान चलाने के निर्देश दिये हैं ताकि प्रदेश में वैक्टर जनित रोगों को फैलने से रोका जा सके। इसके अलावा, उन्होंने जनस्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि 15 जून तक पूरे प्रदेश को पानी के पाइपों की लीकेज से फ्री किया जाए ताकि इसके कारण इकट्ठा हुए पानी में मच्छरों को पनपने से रोका जा सके।
    आज यहां मलेरिया, डेंगू तथा अन्य वैक्टर जनित रोगों के नियंत्रण हेतु बुलाई गई विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए विज ने कहा कि प्रदेश में एक मई से 15 जून तक सभी विभाग स्वच्छता के लिए विशेष अभियान चलाएं। उन्होंने एंटी लारवा अभियान के तहत मच्छर पैदा होने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग को सभी सम्भावित स्थानों पर काले तेल का छिडक़ाव करने के भी निर्देश दिये। 

    स्वास्थ्य मंत्री ने शहरी निकाय विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि वे शहरों में खाली पड़े प्लाटों के मालिकों को अपने प्लाट साफ-सुथरा रखने के नोटिस जारी करें। उन्होंने सभी जिलों में फोगिंग मशीनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने को भी कहा। इसके अलावा उन्होंने लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सडक़ें) को सडक़ों एवं रिहायशी क्षेत्रों के आसपास बने गड्ढ़ों को भरने के निर्देश दिये।

     विज ने कहा कि फोगिंग एवं स्वच्छता अभियान की सफलता के लिए  स्थानीय जनप्रतिनिधियों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। इसके अतिरिक्त उन्होंने शिक्षा विभाग को स्कूलों, कॉलेजों तथा अन्य शिक्षण संस्थानों में विद्यार्थियों को स्वच्छता तथा वैक्टर जनित रोगों के प्रति जागरूक  करने के निर्देश दिये। उन्होंंने कहा कि स्कूलों में बच्चों को घरों में पानी के बर्तनों, कूलरों तथा गमलों में एकत्र पानी से होने वाले नुकसानों की बारे में जानकारी दी जाए।    स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे सप्ताह के प्रत्येक रविवार को ड्राई-डे रखें और इस दिन अपने घरों के सभी बर्तनों को सुखाकर फिर से भरें। इसके अलावा उन्होंने स्कूल एवं कॉलेजों में वैक्टर जनित रोगों से बचाव के उपायों के पोस्टर एवं बैनर लगाने को भी कहा। 

    इस अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव श्री अमित झा, आयुष के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की प्रबन्ध निदेशक पी. अमनीत कुमार, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. प्रवीण गर्ग सहित परिवहन, श्रम, ईएसआई तथा उद्योग सहित अनेक विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *