​★राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी सक्रिय रहे ओपी धनखड़ 

★बैठक के दौरान समय निकालकर हरियाणा के हितों के लिए की पैरवी

★रेल मंत्री, कृषि मंत्री, आयुष मंत्री से भेंटकर उठाए मुद्दे

★यूपी, उत्तराखंड और मणिपुर के सीएम को दी बधाई

झज्जर। हरियाणा के हितों की पैरवी के लिए निरंतर सक्रिय रहने वाले राज्य के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने भुवनेश्वर में  राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सक्रियता दिखाई। प्रदेश के कई प्रोजेक्टस को लेकर धनखड़ ने विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की और उन प्रोजेक्टस को सिरे चढ़ाने के लिए जोरदार पैरवी की। धनखड़ इस दौरान उप्र के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह ने मिले और उन्हें बधाई दी। 

फरूखनगर से चरखी दादरी की रेल लाइन पर जल्दी कार्य हो, इसके लिए कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने  रेल मंत्री सुरेश प्रभु से बात की। कार्यकारिणी की बैठक से समय निकालकर वे रेल मंत्री से मिले और हरियाणा की अन्य परियोजनाओं पर भी चर्चा की। धनखड़ ने अपने पैरी अर्बन एग्रीकल्चर की योजना, तथा इस रेल मार्ग की उपयोगिता से रेल मंत्री को अवगत कराया। उन्होंने रेल मंत्री को बताया कि दिल्ली के तीन ओर से हरियाणा लगता है और गुड़गांव दिल्ली से सटा हुआ है। इसी प्रकार झज्जर जिले का बार्डर भी दिल्ली से जुड़ा है। चूंकि फरूखनगर से पहले से लाइन गुजरती है और यदि इस लाइन को झज्जर होते हुए दादरी से जोड़ा जाता है तो इससे काफी लाभ होगा। धनखड़ ने बताया कि इस पूरे इलाके के हजारों लोगों कारोबार के लिए भी गुड़गांव और दिल्ली जाते हैं। रेल लाइन होने से उनकी यात्रा तो सुविधाजनक होगी ही साथ ही यहां से लोग कारोबार भी कर सकेंगे। केंद्रीय रेल मंत्री ने धनखड़ को भरोसा दिलाया कि इस रेल मार्ग पर जल्दी काम आरंभ होगा। रेल मंत्री ने धनखड़ से यह भी कहा कि जब वे दिल्ली में हो तब एक और मुलाकात करके इस योजना की विस्तृत जानकारी दें। उल्लेखनीय है कि इस परियोजना को केंद्र ने सर्वे बजट में डाला था। धनखड़ इस परियोजना को सिरे चढ़वाने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं। 

पैरी अर्बन एग्रीकल्चर के लिए की भेंट केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह से हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने अलग से भेंट की। धनखड़ ने कहा कि हरियाणा के लोग दिल्ली में रोजाना ताजा फल, फूल, सब्जियां, मछली, अंडा पहुंचा सकते हैं। चूंकि दिल्ली के चार करोड़ लोगों का औसत बाजार सालाना 36 हजार करोड़ का है। चूँकि हम दिल्ली को तीन ओर से जुड़े हुए हैं इसलिए वहां के 75 प्रतिशत बाजार का हम फायदा ले सकते हैं। धनखड़ ने केंद्रीय कृषि मंत्री को बताया कि दिल्ली और एनसीआर के लोगों के नाश्ते, लंच और डिनर की टेबल पर हमारे उत्पाद हो सकते हैं। इससे किसान समृद्ध होगा और दिल्ली को लोगों को सबकुछ ताजा मिल सकेगा। इस विषय पर पहले से केंद्रीय मंत्री से तीन लंबी बैठकें कर चुके धनखड़ ने कहा कि दिल्ली की भीड़ को कम करने के लिए हम हरियाणा में गन्नौर में अंतरराष्ट्रीय स्तर की मंडी डेवेलप कर रहे हैं। धनखड ने यह भी बताया कि हम इतने समर्थ है कि मिडिल ईस्ट के देशों में भी अपने उत्पाद तीन घंटे में भेज सकते हैं। हमें केवल मैनेज करना और किसानों को बाजार उपलब्ध करवाकर उन्हें मार्किटिंग के गुर सिखाने हैं। धनखड़ ने केंद्रीय मंत्री से पैरी अर्बन के लिए अलग से बजट उपलब्ध करवाने  और एनसीआर योजना में डलवाने की भी पैरवी की।

देवरखाना में बने आयुष रिसर्च सेंटरः झज्जर जिले के गांव देवरखाना में आयुष विभाग के प्रस्तावित राष्ट्रीय स्तर के अस्तपताल और रिसर्च सेंटर को लेकर भी कृषि मंत्री ने केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नायक से भी भेंट की। धनखड़ ने उनसे इस विषय पर गंभीर मंथन किया। केंद्रीय मंत्री ने भरोसा दिलाया कि जल्दी ही देवरखाना मेंआयुष विभाग का प्रस्तावित प्रोजेक्ट जल्दी आरंभ किया जाएगा। 

नए मुख्यमंत्रियों का दी बधाईः कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने भुवनेश्वर में बैठक में पहुंचे तीन राज्यों के नए मुख्यमंत्रियों से भी भेंट की और उन्हें बधाई दी। कृषि मंत्री ने उत्तरप्रदेश के   मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी से भी शिष्टाचार भेंट की और बधाई दी। उप्र के सीएम ने स्वयं धनखड़ को कपूरी की पहाड़ी के कार्यक्रम की भी धनखड़ को याद दिलाई। यूपी की हरियाणा की सीमा के साथ लगते इलाकों को लेकर भी दोनों नेताओं में बातचीत हुई। कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत और मणिपुर के सीएम बीरेन सिंह से भी भेंट की और उन्हें बधाई दी।

हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ भुवनेष्वर में उप्र के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी को मिलकर उन्हें बधाई देते हुए। 

भुवनेष्वर में भारत सरकार के केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नायक के साथ हरियाणा के कृषि मंत्री ओपी धनखड़। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *