​चंडीगढ़ । हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि राज्य के सरकारी स्कूलों में शिक्षा में गुणवत्ता में सुधार करने की दिशा में एक विशेष पहल करते हुए विद्यार्थियों को उनकी कक्षा के अनुरूप शिक्षा के स्तर को बनाने तथा उनमें कौशल विकास करने के लिए प्रदेश में पहली बार ‘स्किल पासबुक’ तथा ‘कैचअॅप’ कार्यक्रम शुरू किया गया है।


श्री शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि नए शैक्षणिक सत्र के आरंभिक शिक्षण दिवसों के सदुपयोग के लिए ‘क्लास रैडिनेस प्रोग्राम’ नामक महत्वाकांक्षी योजना शुरू की जाए। इस योजना का उद्देश्य नए शैक्षणिक सत्र के आरंभ में विद्यार्थियों को रोचक,गतिविधिपरक एवं मुख्यत: अनौपचारिक शिक्षण के माध्यम से नई कक्षा के लिए तैयार करना है। सत्र के प्रथम 2 माह में विभाग द्वारा ‘कैचअॅप’ कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों की अधिगम योग्यताओं/कौशलों को विकसित करना है जिन्हें वे किसी भी कारणवश पिछली कक्षाओं में प्राप्त नहीं कर सके।
उन्होंने बताया कि इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर एक स्किल पासबुक तैयार की गई है जिसे कक्षा-शिक्षक द्वारा प्रत्येक विद्यार्थी के लिए भरा जाना है। इस स्किल पासबुक में हिंदी,अंग्रेजी एवं गणित विषय की अधिगम योग्यताएं पाठ्यपुस्तक के पाठ अनुसार अंकित की गई हैं। 
श्री शर्मा ने नए सत्र के सात सप्ताह तक की जाने वाली गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रथम सप्ताह में अध्यापकों द्वारा पासबुक में छात्रों की अधिगम योग्यताओं का अंकन किया जाएगा तथा दूसरे सप्ताह में विद्यार्थियों की पहचान एवं समूह निर्माण की प्रक्रिया, तीसरे सप्ताह से छठे सप्ताह मे समूहों में गतिविधि आधारित अधिगम तथा सातवें सप्ताह में अध्यापक द्वारा विद्यार्थियों की अर्जित अधिगम उपलब्धियों को जांचा जाएगा।
शिक्षा मंत्री ने स्किल पासबुक के प्रयोग के बारे में बताया कि सर्वप्रथम पिछली कक्षा के अध्यापक इस पासबुक में दी गई अधिगम योग्यताओं का आंकलन वर्ष भर के आधार पर करेंगे। नई कक्षा में प्रवेश के समय विद्यार्थी यह पासबुक अपने नए कक्षा-अध्यापक को सौंपेंगे। तत्पश्चात अध्यापक स्किल पासबुक में अंकित अधिगम योग्यताओं/कौशलों की पुन: जांच करेंगे। 
उन्होंने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग का उक्त कार्यक्रम शुरू करने का मुख्य उद्देश्य शिक्षा में गुणवत्ता का सुधार करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *