धर्मशाला. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का चौथा और आखिरी टेस्ट मैच यहां शनिवार से शुरू होगा। धर्मशाला में पहली बार कोई टेस्ट मैच हो रहा है। यह फाइनल की तरह होगा, क्योंकि रांची टेस्ट ड्रॉ होने के बाद सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं। पुणे, बेंगलुरु और रांची में स्पिनर्स का बोलबाला रहा। वहीं, धर्मशाला में फास्ट बॉलर्स को मदद मिलेगी। टीम इंडिया में फास्ट बॉलर मोहम्मद शमी की वापसी तय लग रही है। विराट कोहली इसके संकेत दे चुके हैं।विराट कोहली के कवर के तौर पर श्रेयस को धर्मशाला बुलाया…

 

  • भारतीय कप्तान विराट काेहली रांची में तीसरे टेस्ट के दौरान अपने कंधे में लगी चोट से पूरी तरह उबर नहीं पाए हैं। उनके कवर के तौर पर मुंबई के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को बुलाया गया है। वे शुक्रवार को धर्मशाला पहुंचेंगे। विराट ने गुरुवार काे नेट पर बल्लेबाजी का अभ्यास भी नहीं किया।
  • 22 साल के अय्यर ने 2015-16 के डोमेस्टिक सीजन में 1321 रन बनाए थे। वे रणजी ट्रॉफी में टॉप स्कोरर रहे थे। अय्यर ने 2016-17 रणजी ट्राफी सीजन में दो सेन्चुरी सहित 725 रन बनाए थे। उन्होंने पिछले महीने ब्रेबोर्न स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में नॉटआउट डबल सेन्चुरी लगाई थी।

फाइनल टेस्ट में टीम इंडिया के इन प्लेयर्स पर रहेगी नजर

विराट कोहलीः बढ़िया इनिंग की उम्मीद।
चेतेश्वर पुजाराः डबल सेन्चुरी लगा चुके हैं।
रवींद्र जडेजाः सीरीज के लीडिंग विकेटटेकर।
आर. अश्विनः टीम इंडिया के सबसे बड़े मैच विनर हैं।
केएल राहुलः टीम को लगातार अच्छी शुरुआत दे रहे हैं।
उमेश यादवः सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले फास्ट बॉलर।

कैसी है धर्मशाला की पिच ?

  • यहां पिच फास्ट बॉलर्स की मदद करेगी। इसमें गति और उछाल बढ़िया होगी। पिच पर घास दिखाई दे रही है।
  • इसे देखते हुए दोनों ही टीमें एक एक्स्ट्रा फास्ट बॉलर रखने की प्लानिंग करेंगी। विराट पहले ही शमी को शामिल करने का मन बना चुके हैं।
  • हालांकि, भुवनेश्वर के नाम पर भी विचार किया जा सकता है। ऐसे में, टीम से इशांत शर्मा की छुट्टी हो सकती हैं, जो तीन मैचों में सिर्फ 3 विकेट ले पाए हैं।

शमी-भुवनेश्वर पर रहेंगी नजरें

  • भुवनेश्वर स्विंग के हालात का फायदा उठाने में माहिर माने जाते हैं। हालांकि, उन्होंने भारत के पिछले 16 टेस्ट मैचों में से सिर्फ 5 खेले और उसमें 14 विकेट लिए हैं।
  • वहीं, शमी पैर की चोट से उबरकर टीम में लौटे हैं। उन्होंने बेंगलुरु और रांची में नेट पर प्रैक्टिस भी की थी। हाल ही में विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में उन्होंने 4 विकेट लिए थे।
  • वो नई बॉल का बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं। उनके पास स्पीड है और वो बॉल को रिवर्स स्विंग भी करा सकते हैं।

धर्मशाला में टीम इंडिया का रिकॉर्ड

  • इस ग्राउंड पर अब तक तीन वनडे और आठ टी20 मैच हुए हैं। टीम इंडिया ने तीन में से दो वनडे जीते। वहीं, भारत ने यहां सिर्फ एक टी20 मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला, जिसमें उसे हार का सामना करना पड़ा।
  • ऑस्ट्रेलिया ने भी यहां एक वनडे खेला है। मार्च, 2016 में टी20 वर्ल्ड कप के दौरान उसे यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ 8 रन से हार मिली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *