london-attack

लंदन. ब्रिटिश पार्लियामेंट के बाहर गुरुवार शाम हुए आतंकी हमले में पांच लोगों की मौत हो गई और 40 जख्मी हो गए। वेस्टमिन्स्टर ब्रिज से लेकर हाउस ऑफ कॉमंस के एंट्रेस तक पहुंचने में हमलावर को करीब तीन मिनट लगे। इस दौरान उसने ब्रिज पर कई लोगों को कार से कुचल दिया। तीन की मौके पर ही मौत हो गई। हाउस ऑफ कॉमंस के बाहर उसने एक पुलिसवाले को चाकू मारा। लोगों को पहले समझ ही नहीं आया कि ये क्या हो रहा है। इस बीच एक सांसद टोबाइस इलबुड हमले में बुरी तरह जख्मी हुए पुलिसवाले को उस वक्त बचाने के लिए आगे आए जब आम लोगों और पार्लियामेंट स्टाफ की भीड़ अपनी जान बचाने के लिए दूसरी तरफ भाग रही थी। हमलावर ने3 मिनट में 14 जगह लोगों को कार से टक्कर मारी​…

  • ब्रिटिश पार्लियामेंट से सटे वेस्टमिन्स्टर ब्रिज पर हमलावर ने लोगों पर कार चढ़ा दी। वह ब्लैक कलर की कार में था।
  • मौके पर मौजूद लोगों के मुताबिक, हमलावर कार इतनी स्पीड से चला रहा था कि उसने वेस्टमिन्स्टर ब्रिज से लेकर हाउस ऑफ कामंस के एंट्रेस की दूरी करीब 3 मिनट में पूरी की। इस दौरान उसने करीब 14 जगह लोगों को कार से टक्कर मारी। बाद में उसकी कार फुटपाथ की बाउंड्री से टकरा गई। उसके बाद भी वह नहीं रुका। दौड़कर हाउस ऑफ काॅमंस के एंट्रेस की तरफ बढ़ा। वहां उसने एक पुलिसवाले पर चाकू से हमला कर दिया। तभी सादी वर्दी में तैनात सिक्युरिटी पर्सनल्स ने उसे गोली मार दी।

आसपास के हॉस्पिटल से डॉक्टर और नर्स मदद के लिए दौड़े

  • जैसे ही पता लगा कि इस हमले कई लोग जख्मी हुए हैं, ब्रिटिश पार्लियामेंट के आसपास मौजूद हॉस्पिटल्स से डॉक्टर और नर्स मदद के लिए आगे आए। लोगों को फौरन फर्स्ट ऐड दिया गया।

सांसद की कोशिश भी पुलिसवाले को बचा नहीं पाई

  • जब आतंकी ने हाउस ऑफ कॉमंस के गेट पर पुलिसवाले को चाकू मारा, उसके बाद कई लोग बिल्डिंग से बाहर आए। वहां अफरातफरी मच गई। बाहर खड़ी भीड़ भागने लगी।
  • इसी दौरान वहां मौजूद सांसद टोबाइस इलबुड पुलिसवाले की मदद के लिए आगे आए।
  • इलबुड ने बताया कि पुलिसवाले के चेहरे से खून निकल रहा था। उसके कपड़ों पर भी खून था। मैंने उसकी फट चुकी नस को दबाने की कोशिश की ताकि ब्लीडिंग रुक जाए।
  • फोटो में सांसद के आसपास कई पुलिसवाले भी खड़े हैं। साथ ही मेडिकल टीम भी है। इन सब कोशिशों के बाद भी जख्मी पुलिसवाले को बचाया नहीं जा सका।

हमें लगा कि ये एक्सीडेंट है : चश्मदीद

  • बुधवार को जब यह हमला हुआ तब कई टूरिस्ट पार्लियामेंट के आसपास थे। कुछ वेस्टमिन्स्टर ब्रिज को पार कर रहे थे। लोगों ने समझा कि यह एक्सीडेंट है।
  • एक टूरिस्ट बेरनाटेत केरिंगन ने बताया कि मैं अपनी टूरिस्ट बस से गुजर रहा था। लगा किसी का एक्सीडेंट हो गया, लेकिन जैसे-जैसे आगे हमारी बस आगे बढ़ रही थी। नजारा बदल रहा था। लोग ब्रिज पर गिरे हुए थे। वे जख्मी थे। फिर अचानक चारों तरफ सिक्युरिटी फोर्सेस की एक्टिविटीज बढ़ गई। लगा मामला सीरियस है।
  • डेली मेल के जर्नलिस्ट क्यू लेट्स ने बताया कि मैंने आतंकी को पुलिस पर चाकू से अटैक करते देखा। बाद में वह ओपन गेट की तरफ भागा। तभी पुलिसवाला जमीन पर गिर गया। हमलावर हाउस ऑफ कॉमंस के एंट्रेस की तरफ भागा। इस गेट का इस्तेमाल सांसद आने-जाने के लिए करते हैं। तभी सिक्युरिटी पर्सनल ने उसे गोली मार दी।

एक कार तेजी से ब्रिज को पार कर रही थी

  • कई लोगों ने बताया कि काले रंग की कार तेजी से वेस्टमिन्स्टर ब्रिज पर पार्लियामेंट की तरफ दौड़ रही थी।
  • रग्बी प्लेयर रॉब लायन ने बताया कि मैं ब्रिज पर टहल रहा था। मैंने तभी तेज आवाज सुनी। एक कार तेजी से टकराई। एक और आईविटनेस ने बताया कि मैंने गोली चलने की आवाज सुनी। मैं फौरन रोड के दूसरी भागा और छिप गया। मैंने देखा कई लोग जख्मी हुए हैं।

40-50 लोग बचकर भाग रहे थे- चश्मदीद

  •  प्रेस एसोसिएशन के पॉलिटिकल एडिटर एंड्रयू वुडकॉक ने बताया, “मैंने लोगों के चीखने की आवाज सुनी। मैंने बाहर देखा तो ब्रिज की सड़क पर 40-50 लोग किसी चीज से बचकर भाग रहे थे। ये लोग पार्लियामेंट स्क्वायर की तरफ आ रहे थे।”
  • “ये ग्रुप कैरिएज गेट्स तक आया, जहां सिक्युरिटी एंट्रेंस पर पुलिस वाले थे, एक शख्स अचानकर भीड़ में से निकलकर यार्ड की तरफ भागा। ऐसा लगा कि उसके हाथ में लंबा चाकू था, जिसका इस्तेमाल किचन में किया जाता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *